दिल्ली

चांदनी चौक में अब होगी फ्री ई- रिक्शा की सवारी, जानें और क्या है नया

चांदनी चौक में बने मोटर वाहन रहित मार्ग की खराब हालत का सुधार 6 जुलाई से होगा। इन सड़कों को बनाने में सैकड़ो करोड़ रूपये खर्च हुए थे।

चांदनी चौक में बने मोटर वाहन रहित मार्ग की खराब हालत का सुधार अहले महिने 6 जुलाई से होगा। आपकों बता दे कि इन सड़कों को बनाने में सैकड़ो करोड़ रूपये खर्च हुए थे।

हाल ही में हुई शहाजंहानाबाद पुनर्विकास निगम की बैठक में तय हुआ की इन 15 दिनों में गंदगी के साथ साथ ई- रिक्शों की भी संख्या सीमित की जाएगी।

जानकारी के अनुसार, यह बैठक आइटीओ स्थित लोक निर्माण के मुख्यालय में हुई थी। बतातें चले कि बैठक में चांदनी चौक के रूके हुए कार्यों पर भी चिंता जताई गई।

दरअसल, पिछले साल सितंबर में इसे जुड़ी एक और बैठक हुई थी। लेकिन अभी तक भी सड़क को ठीक करने के औऱ मोटर वाहनों पर रोक लगाने के कोई पुख्ता इतंजाम नहीं किए गए।

इसके अलावा भी वहां मोजूद 23 आटोमेटिक नंबर प्लेट रीडर (ANPR) कैमरे तो लगा दिए गए थे। लेकिन उनमें से कोई भी अभी चालू नहीं किया गया है।

इसी को लेकर बैठक के दोरान ये तय हुआ कि चांदनी चौक में बनाए गए इसके कंट्रोल कक्ष को शुरू करने के साथ इनका कनेक्शन टोडापुर स्थित ट्रैफिक विभाग के मुख्यालय से जोड़ा जाएगा।

इसी के साथ चांदनी चौक में अवैध रिक्शों की भरमार पर लगाम लगाने की जिम्मेदारी ट्रैफिक पुलिस, दिल्ली पुलिस और एमसीडी को सौंपी गई है।

उन्हें ये देखने के लिए कहा गया है कि चांदनी चौक में हर हाल में 400 से ज्यादा रिक्शें ना हो। साथ ही सेंट्रल वर्ज औप फुटपाथ पर बैठे बिखारियों को शेल्टर होम में भेजने की जिम्मेदारी नगर निगम को दी गई है। 

जानकारी के मुताबिक, कई कंपनियों के साथ कॉर्पोरेट सोशल रेस्पोंसिबिलिटी (CSR) के तहत करार कर मुफ्त ई- रिक्शा भी चलाए जाएंगे। फिलहाल, इस प्रोजेक्ट में मुख्य रूप से बिल्डर और फैशन कम्पनियों ने दिलचस्पी दिखाई है।        

Insta loan services

ये भी पढ़े: दिल्लीवासी झमाझम बारिश के लिए हो जाए तैयार, इस दिन मानसून देगा दस्तक

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button