अपराधदिल्लीदेशनार्थ दिल्लीसाइबर क्राइम

जिगोलो जॉब्स के नाम पर लोगों से ठगी, चार महिलाओं समेत छह गिरफ्तार

पुलिस ने इस संबंध में दिल्ली और पटियाला में छापेमारी कर चार महिलाओं समेत कुल छह लोगों को गिरफ्तार किया है। जिगोलो जॉब्स के नाम पर लोगों से..

उत्तरी जिला के साइबर थाना पुलिस ने जिगोलो सर्विस-जॉब्स के नाम पर देशभर के लोगों से ठगी करने वाले एक अंतरराज्जीय गिरोह का खुलासा किया है। पुलिस ने इस संबंध में दिल्ली और पटियाला में छापेमारी कर चार महिलाओं समेत कुल छह लोगों को गिरफ्तार किया है।

पकड़े गए आरोपियों की पहचान दिल्ली निवासी अमित गांधी (34), इसकी पत्नी माही गांधी उर्फ गुरप्रीत (34), जय कोचर (32), रांजना (21), लीशा (25) और पटियाला, पंजाब निवासी हरमन कौर (23) के रूप में हुई है। पुलिस ने इनके पास से वारदात में इस्तेमाल 9 मोबाइल, 9 सिमकार्ड, 9 डेबिट कार्ड और एक महंगी एसयूवी गाड़ी बरामद की है।

आरोपियों ने फर्जी वेबसाइट बनाई हुई थी। जैसे ही कोई इन पर संपर्क करता था तो आरोपी इनसे अलग-अलग मदों में रुपये वसूल लिया करते थे। पुलिस पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है।

उत्तरी जिला के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पिछले दिनों गृह मंत्रालय के साइबर क्राइम पोर्टल पर तीस हजारी निवासी मोहम्मद आदिल नामक युवक ने ठगी की शिकायत दी थी। पीड़ित ने बताया कि वह गूगल पर नौकरी की तलाश कर रहा था। इस बीच उसे जिगोलो सर्विस की वेबसाइट दिखाई दी। वेबसाइट की जांच करने के बाद जिगोलो जॉब्स के लिए बढ़िया पैसे देने की बात की गई थी।

आदिल ने वेबसाइट पर दिए गए मोबाइल नंबर से संपर्क किया। वहां कॉल करने पर युवती ने बताया कि उसे जॉब के लिए पहले रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसके लिए आदिल को 2500 रुपये देने के लिए कहा गया था। इसके बाद होटल, मेडिकल समेत अन्य चार्ज बताकर पीड़ित से कुल 58,158 रुपये वसूल लिए गए। लेकिन इसके बाद भी उससे और पैसों की डिमांड होने लगी।

आदिल को शक हुआ तो उसने अपने रुपये वापस मांगे। इसके बाद आरोपियों ने उसके मोबाइल को ब्लॉक कर दिया। उत्तरी जिला पुलिस उपायुक्त सागर सिंह कलसी ने बताया कि शिकायत मिलने के बाद 25 जुलाई को इस संबंध में मामला दर्ज कर छानबीन शुरू करी।

साइबर थाना प्रभारी पवन तोमर के नेतृत्व में एक टीम ने उन खातों की जांच शुरू की जिनमें आदिल ने रुपये भेजे थे। छानबीन में पता चला कि पैसे कई ई-वॉलेट से होते हुए अलग-अलग बैंक खातों में ट्रांसफर हुए थे। इसके अलावा सीडीआर से पता चला कि कॉल पश्चिम दिल्ली के अलावा पटियाला पंजाब से की जा रही थी।

जांच के बाद पुलिस ने 26 जुलाई को मुख्य आरोपी अमित गांधी को दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से एक मोबाइल व एक एसयूवी गाड़ी बरामद हुई। इसके बाद उससे पूछताछ के बाद उसके साथ जय कोचर व बाकी चार महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया गया।

एक टीम ने हरमन कौर को पटियाला के प्रताप नगर, गैस एजेंसी के पास से गिरफ्तार किया। इन लोगों के पास से वारदात में इस्तेमाल मोबाइल व अन्य सामान बरामद हुआ। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि इन लोगों ने देशभर के सैकड़ों लोगों को चूना लगाया।
पूछताछ के दौरान अमित ने बताया कि माही गांधी उसकी पत्नी है।

अमित ने अपने साथी जय कोचर व पत्नी के साथ मिलकर ठगी की योजना बनाई। इन लोगों ने जिगोलो सर्विस-जॉब्स के लिए फर्जी वेबसाइट बनाई। इनको गूगल पर शेयर किया गया। वेबसाइट में जॉब करने वाले व्यक्ति को मोटी रकम देने की बात की जाती थी। कोई भी आसानी से इनके जाल में फंस जाता था। बाद में यह लोग पहले रजिस्ट्रेशन, होटल, मेडिकल समेत दूसरे मदों में रुपये वसूल लिया करते थे। बाद में पीड़ितों के मोबाइल को ब्लॉक कर दिया करते थे। सभी मामलों में महिलाएं ही कॉल कर वसूली किया करती थीं। अमित और जय कोचर ठगी की रकम को अलग-अलग खातों से निकालकर उनको बांटते थे।

 

Tax Partner

यह भी पढ़े: Delhi: रेप के बाद प्रेग्नेंट हुई लड़की, धमकी देकर किया दुष्कर्म, आरोपी फरार

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button