दिल्लीदिल्ली एनसीआर

25 अक्टूबर के बाद नहीं होगा ये सर्टिफिकेट तो नहीं मिलेगा पेट्रोल-डीज़ल

दिल्ली सरकार ने फैसला लिया है कि जबतक लोग अपना PUC नहीं दिखाएंगे तब तक लोगों को पंपों पर पेट्रोल और डीजल नहीं मिलेगा

दिल्ली में प्रदूषण के चलते अब सरकार द्वारा बहुत सख्ताई दिखाई जा रही रही है। ऐसे में अब एक नया नियम लागू हो गया है जहां बिना PUC सर्टिफिकेट के बिना आप पंपों पर पेट्रोल और डीजल नहीं मिलेगा। जानिए पूरी खबर

बता दें कि दिल्ली में अब सर्दी का मौसम आने वाला है जिसके चलते प्रदूषण का दर तेज़ी से बढ़ेगा और इसी के लिए सरकार अभी से ही सतर्क हो गयी है। ऐसे में अब दिल्ली सरकार ने फैसला लिया है कि जबतक लोग अपना प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र (PUC) नहीं दिखाएंगे तब तक लोगों को पंपों पर पेट्रोल और डीजल नहीं मिलेगा।

इसकी जानकारी खुद दिल्ली केपर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने दी है और बताया है कि दिल्ली के लोगों ने प्रदूषण से निपटने के लिए पिछले कुछ सालों में बहुत सारे उपाय किए हैं जिसका नतीजा यह है कि दिल्ली के वायु प्रदूषण में काफी सुधार हुआ है। उन्होंने दावा किया कि दिल्ली में PM 10 लेवल में 18.6% का सुधार हुआ है।

ऐसे में अब दिल्ली सरकार ने व्हीकल पॉल्यूशन से निपटने के लिए खास प्लान बनाया है जिसमे कि निर्देश दिया गया है कि पेट्रोल पंप बिना पॉल्यूशन सर्टिफिकेट के वाहनों को पेट्रोल न दें। साथ ही सभी इस जानकारी से सूचित हो जाये इसके लिए अभी थोड़ा वक्त दिया गया है। लेकिन 25 अक्टूबर से दिल्ली में बिना पीयूसी के किसी को भी पंप पर पेट्रोल नहीं मिलेगा।

इतना ही नहीं दिल्ली सरकार का दावा है कि अब सभी रजिस्टर्ड इंडस्ट्री में अब पाइप्ड नेचुरल गैस का इस्तेमाल होता है जिसकी वजह से पोल्यूशन नहीं होता। यही वजह है कि दिल्ली ग्रीन कवर की ओर बढ़ता जा रहा है। साथ ही केजरीवाल का दावा है कि जब आम आदमी पार्टी की सरकार बनी थी, तब 20% ग्रीन कवर था और अब 23.6% है। एस में फिरसे दिल्ली सरकार नई इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी लेकर आई है, जिससे लोग अब इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीद रहे हैं।

Aadhya technology
यह भी पढ़े: दिल्ली से शिमला जाना हुआ और भी आसान, आज से शुरू हुई पहली फ्लाइट

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button