दिल्ली

महंगी किताबों और ड्रेस खरीदने के लिए प्राइवेट स्कूल नहीं करेंगे मजबूर, होगी कार्रवाई

दिल्ली के स्कूल अब लोगों को महंगी किताबें और यूनिफार्म खरीदने के लिए मजबूर नहीं कर सकेंगे। दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय ने इस संबध में एक आदेश जारी किया है

दिल्ली के स्कूल अब लोगों को महंगी किताबें और यूनिफार्म खरीदने के लिए मजबूर नहीं कर सकेंगे। बता दें कि दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय ने इस संबध में एक आदेश जारी किया है

आदेश यह है कि अवहेलना करने वाले स्कूलों के खिलाफ करवाई की जाएगी। इसी के साथ निजी स्कूलों को अपनी वेबसाइट पर कम से कम 5 दुकानों की सूचि जारी करनी होगी जहाँ से लोग किताबे और ड्रेस खरीद पाएंगे। इसी के साथ उन पांच दुकानों का पता और मोबाइल नंबर भी प्रदर्शित करेंगे।

मनीष सिसोदिया का कहना है कि सरकार के इस फैसले से लाखों लोगों को लाभ होगा। इसके अलावा यह भी कहा कि कोई भी प्राइवेट स्कूल कम से कम 3 साल तक स्कूल ड्रेस का रंग डिजाइन और अन्य चीजों को नहीं बदलेगा।

इसी के साथ कोई भी निजी स्कूल लोगों को खुद से या किसी विशिष्ट विक्रेता से किताबे, पाठ्य सामग्री, स्कूल ड्रेस व अन्य सामान खरीदने के लिए मजबूर नहीं करेगा।

Tax Partner

यह भी पढ़े: दिल्ली से मेरठ चलने वाला हाईस्पीड ट्रेनसेट हुआ तैयार, देखे इसकी पहली झलक

Jagjeet Singh

जगजीत सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे हैं। इन्होंने टेक्निकल, विश्व और एजुकेशन से सम्बंधित लेखो को अपने लेखन में प्रकाशित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button