दिल्लीसाइबर क्राइम

देशभर के लोगों से साइबर ठगी करने वाले गैंग का खुलासा, चार गिरफ्तार

पूछताछ के वक्त आरोपियों ने बताया कि यह पिछले बोहोत समय से ठगी का धंधा कर रहे थे और आरोपी अजहरुद्दीन कोयले के भट्टे पर काम करता था।

झारखंड में बैठकर देशभर के सैकड़ों लोगों से साइबर ठगी करने वाले गैंग का उत्तर-पूर्वी जिला पुलिस ने खुलासा किया है। पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान अशफाक अंसारी (22), अजहरुद्दीन अंसारी (30), मुर्शीद अंसारी (32), और असगर अंसारी (25) के रूप में हुई है। पकडे गए चारों ही आरोपी झारखंड के रहने वाले हैं।

पुलिस ने आरोपियों के पास से 7.90 लाख रुपये, सात मोबाइल, तीन एटीएम, दो पीओएस मशीन व एक चेकबुक बरामद किया है। पकडे गए आरोपियों ने गूगल पर विभिन्न कंपनियों के फर्जी (Fake) कस्टमर केयर नंबर डाले हुए थे। और जैसे ही लोग इन नंबरों पर कॉल करते थे तो आरोपी लोगों को अपने जाल में फंसा लेते थे।

पुलिस पता लगाने का प्रयास कर रही है की आरोपियों ने अब तक कितने लोगों के साथ ठगी की है। उत्तर-पूर्वी जिला पुलिस उपायुक्त संजय कुमार सैन के मुताबिक़ 3 जुलाई 2022 को राजेश कुमार शर्मा नाम के व्यक्ति ने साइबर थाने में ठगी की शिकायत दर्ज कराई थी। पीड़ित राजेश ने बताया था कि उसने कुछ दवाएं ऑन लाइन बुक कराई थीं और डीटीडीसी नाम की कंपनी को इन दवाइयों को डिलीवर करना था। लेकिन उनको पहुंचाने में देर हुई।

इसका पता लगाने के लिए पीड़ित ने कुरियर कंपनी का कस्टमर केयर नंबर लेने के लिए गूगल पर सर्च किया। वहां से नंबर लेकर पीड़ित ने उस नंबर पर संपर्क किया लेकिन नंबर कंपनी का न होकर साइबर ठगों का था। पीड़ित की मदद करने के नाम पर झांसा देकर आरोपियों ने उससे एक एप डाउनलोड करवाया और फिर उसके मोबाइल का कंट्रोल प्राप्त कर लिया।

इसके बाद पीड़ित के खाते से करीब 2.40 लाख रुपये निकाल लिये। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज किया और छानबीन शुरू की। जांच के वक्त सबसे पहले पुलिस ने उन खातों की सुचना जुटाई, जिनमें पीड़ित की रकम ट्रांसफर हुई थी। सभी रकम पांच अलग-अलग खातों में गई थी। धनबाद, झारखंड में सिराज अंसारी नाम के व्यक्ति के एक खाते में 40 हजार रुपये गए थे।

और इसके अलावा सीसीटीवी फुटेज और खाते से लिंक मोबाइल की जांच भी की गई। इस आधार पर पुलिस ने 16 सितंबर वाले दिन धनबाद, झारखंड में छापेमारी की और आरोपी अजहरुद्दीन अंसारी को गिरफ्तार कर लिया। एक आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद उसी दिन दूसरे आरोपी मुर्शीद को गिरफ्तार कर लिया। पकडे गए आरोपियों से पूछताछ के बाद अशफाक अंसारी को 30 सितंबर और असगर को छह अक्तूबर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया।

आरोपियों के पास से कैश और अन्य सामान बरामद हुआ। पूछताछ के वक्त आरोपियों ने बताया कि यह पिछले बोहोत समय से ठगी का धंधा कर रहे थे और इनमे से एक आरोपी अजहरुद्दीन कोयले के भट्टे पर काम करता था। अशफाक मजदूरी और असगर अंसारी, ग्राहक सेवा केंद्र चलाता है और मुर्शीद टेलर,। पुलिस पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ कर मामले की छानबीन में जुटी है।

Hair Crown

यह भी पढ़े: फराश खाना इलाके में दो मंजिला इमारत गिरने से बच्ची समेत तीन की मौत

Gagandeep Singh

गगनदीप सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। जहां ये दिल्ली से जुड़ी सारी क्राइम की खबरें निडर होकर अपने लेख से लोगों तक पहुंचाते है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button