दिल्लीदेश

भारत में आई पहली हाइड्रोजन कार, परिवहन मंत्री ने की संसद तक की सवारी

देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें आसमान छू रही है अपनी गाड़ियों में ईंधन भरवाना इन दिनों सबकी जेबो पर भारी पड़ रहा है.

देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें आसमान छू रही है अपनी गाड़ियों में ईंधन भरवाना इन दिनों सबकी जेबो पर भारी पड़ रहा है. अब इस परिस्थिति को देखते हुए इसका समाधान निकाला गया है.

बता दें भारत में पहली बार हाइड्रोजन कार का इस्तेमाल देखने को मिला है. केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने खुद नई टेक्नोलॉजी वाली ग्रीन हाइड्रोजन कार से संसद तक का सफर तय किया है.

गडकरी ने जनवरी में अपने एक बयान में कहा था कि वह दिल्ली की सड़कों पर कार में दिखाई देंगे ताकि लोगों को हाइड्रोजन फ्यूल का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके.

जिस कार में बैठ कर नितिन गडकरी़ ससंद पहुंचे थे उसका नाम है टोयोटा मिराई. केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी कहते है कि भारत सरकार ने ₹3000 करोड़ का मिशन शुरू किया है.

जल्द ही भारत हाइड्रोजन का निर्यात करने वाला देश बन जाएंगा. देश में जहां भी कोयले का उपयोग होगा, वहां ग्रीन हाइड्रोजन का इस्तेमाल किया जाएगा. आगे वो कहते है कि आत्मनिर्भर बनने के लिए, हमने ग्रीन हाइड्रोजन को पेश किया है

Mirai को लेकर Toyota ने दावा किया है कि यह कार फुल टैंक के साथ 650 km की रेंज तक निकाल सकती है. बताया गया है कि यह कार पर्यावरण को किसी भी तरह का हानि नही पहुंचाती है इसमें पानी के अलावा कोई और उत्सर्जन नहीं होता.

अब आप सब सोच रहे होंगे कि इलेक्ट्रिक गाड़ियों के साथ सबसे बड़ी समस्या यह है कि उन्हे चार्ज होने में लंबा समय लगता है, लेकिन इस कार को लेकर दावा किया गया है कि आपको ऐसी समस्या का सामना नही करना पड़ेगा. क्योंकि इसमें हाइड्रोजन रिफिल में ज्यादा समय नहीं लगता है.

Tez Tarrar App

ये भी पढ़े: 1 अप्रैल से बसों और मालवाहकों के लिए नया नियम, उल्लंघन पर 10 हजार का जुर्माना

Afreen Khan

आफरीन खान तेज़ तर्रार न्यूज़ में बतौर पत्रकार काम कर रही है और इनका मानना है कि पत्रकारिता की एक खासियत है कि वह कभी खामोश नहीं रहती ।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button