दिल्लीदिल्ली एनसीआर

सर्दियों में प्रदूषण से बचने के लिए सरकार ने बनाया 15 पॉइंट्स का ‘Winter Action Plan’

इस साल के लिए भी दिल्ली में होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार ने 'विंटर एक्शन प्लान' (Winter Action Plan) बनाया है

दिल्ली में प्रदूषण को लेकर बहुत सी योजनाए बनाई जाती है जिससे वह इस राज्य से खत्म हो सके। प्रदुषण का दर आने वाले सर्दियों के मौसम में ज्यादा बढ़ता है जिसके लिए सरकार इस बार पहले से सतर्क नज़र आ रही है और इसी के चलते दिल्ली सरकार ने विंटर एक्शन प्लान जारी कर दिया है। जानिए पूरी खबर

बता दें कि सर्दियों के समय प्रदूषण को रपकने के लिए सरकार बहुत प्रयास करती है जिसमे वह धीरे – धीरे सफल भी हो रही है। ऐसे में इस साल के लिए भी दिल्ली में होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार ने ‘विंटर एक्शन प्लान’ (Winter Action Plan) बनाया है। जिसकी बैठक पर्यावरण मंत्री गोपाल राय द्वारा की गयी है।

इस बैठल में सभी संबंधित 30 विभागों के साथ संयुक्त मौजूद थे जिसमे पर्यावरण विभाग, डीपीसीसी, विकास विभाग, दिल्ली कैंटोनमेंट बोर्ड, सीपीडब्लूडी, डीडीए, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस, दिल्ली पुलिस, डीटीसी, राजस्व विभाग, डीएसआईआईडीसी, शिक्षा विभाग, DMRC, PWD, ट्रांसपोर्ट विभाग, NHAI, दिल्ली जल बोर्ड, डूसिब, एनडीएमसी आदि के अधिकारी शामिल रहे।

इस बैठक का मुख्या मुद्दा यही था कि सर्दियों के मौसम में होने वाली प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है जिसमे कि मुख्य तौर पर 15 पॉइंट्स पर फोकस बिंदु चिन्हित किए गए है जिनके आधार पर कार्ययोजना तैयार करने के लिए सोमवार को मंत्री गोपाल राय ने दिल्ली के अंदर प्रमुख एजेंसियों के अधिकारियों के साथ संयुक्त बैठक आयोजित की।

ये है 15 पॉइंट्स

  • अर्बन फार्मिंग (Urban Farming) के लिए नोडल एजेंसी पर्यावरण विभाग को बनाया गया।
  • इको क्लब एक्टिविटीज/ जन भागीदारी को बढ़ावा की नोडल एजेंसी पर्यावरण विभाग को अप्पोइंट किया गया।
  • पटाखे पर रोक लगाया जायेगा जिसके लिए भी पर्यावरण विभाग और दिल्ली पुलिस को नोडल एजेंसी के तौर पर नियुक्त किया गया।
  • केंद्र सरकार और पड़ोसी राज्यों के साथ संवाद स्थापित किया जाएगा ताकि प्रदूषण को रोकने के लिए एक संयुक्त कार्य योजना बनाई जाए।
  • दिल्ली में ग्रीन एरिया को बढ़ाने पर जोर देते हुए वन विभाग को नोडल एजेंसी के तौर पर नियुक्त किया गया।
  • भारत का पहला ई वेस्ट इको पार्क जीरो वेस्ट पॉलिसी पर बनाया जा रहा है। इसकी नोडल एजेंसी पर्यावरण विभाग, DSIIDC और MCD को नियुक्त किया गया।
  • स्मोग टावर के लिए DPCC को नोडल एजेंसी के तौर पर नियुक्त किया गया है जिसकी कि पहली रिपोर्ट विभाग द्वारा 15 सितंबर से जारी की जाएगी।
  • रियल टाईम अपोरमेंट स्टडी के लिए IIT कानपुर के साथ मिलकर काम किया जा रहा है। जिससे की रियल टाईम प्रदूषण से संबंधित कारणों का पता चल सके, डीपीसीसी को नोडल एजेंसी के तौर पर नियुक्त किया गया।
  • स्ट्रॉ जलाने से होने वाले प्रदूषण की समस्या को लेकर विकास एवं राजस्व विभाग को नोडल एजेंसी बनाया गया है।
  • धूल प्रदूषण के लिए PWD, एमसीडी, डीसीबी, NDMC, DDA, सीपीडब्ल्यूडी, आई एंड एफसी , डीएसआईआईडीसी, दिल्ली जल बोर्ड, दिल्ली मेट्रो और राजस्व विभाग को नोडल एजेंसी नियुक्त किया गया।
  • वाहनों से होने वाले प्रदूषण के लिए नोडल एजेंसी के तौर पर दिल्ली ट्रैफिक पुलिस, ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट, डीआईएमटीएस, DTC, दिल्ली मेट्रो और जीएडी को नियुक्त किया गया।
  • खुले में कूड़ा जलाने को लेकर नोडल एजेंसी के तौर पर एमसीडी , एनडीएमसी, डीसीबी, विकास विभाग, आई एन्ड एफसी, दिल्ली फायर सर्विस, DDA एवं राजस्व विभाग को नियुक्त किया गया।
  • इंडस्ट्रियल प्रदूषण के लिए नोडल एजेंसी के तौर पर एमसीडी, राजस्व , डीएसआईआईडीसी और डीपीसीसी को नियुक्त किया गया।
  • ग्रीन वार रूम और ग्रीन ऐप के और बेहतर बनाने के लिए डीपीसीसी को नोडल एजेंसी के तौर पर नियुक्त किया गया।
  • हॉट स्पॉट पर निगरानी का काम करने के लिए एमसीडी, डीपीसीसी, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस, डीडीए , डीएसआईआईडीसी को नोडल एजेंसी के तौर पर नियुक्त किया गया।

Anupama Musical Events ये भी पढ़े: दिल्ली मेट्रो से अब घर तक छोड़ेगी AC फीडर बस, जानिए टाइमिंग और किराया

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button