दिल्ली

यमुना में फिर दिखे जहरीले झाग

राजधानी दिल्ली में यमुना नदी एक बार फिर दूषित होने लगी है। कालिंदी कुंज के पास यमुना नदी की सतह पर जहरीले झाग दिखे।

राजधानी दिल्ली में यमुना नदी एक बार फिर दूषित होने लगी है। कालिंदी कुंज के पास यमुना नदी की सतह पर जहरीले झाग दिखे। यमुना के पानी में प्रदूषक तत्वों की मात्रा बढ़ने को लेकर दिल्ली सरकार कई बार चिंता जता चुकी है, लेकिन अब तक इस समस्या पर काबू नहीं पाया जा सका है। दिल्ली में नदी के ऊपर  तैरते जहरीले झाग की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर छाए रहते हैं। माना जाता है कि फैक्ट्रियों, रंगाई उद्योगों, धोबी घाटों और घरों में इस्तेमाल होने वाले डिटर्जेंट के कारण जल में अमोनिया की मात्रा बढ़ जाती है, जो यमुना में जहरीले झाग के बनने का बड़ा कारण है। 

Tax Partner

दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने कहा था कि हरियाणा की फैक्ट्रियों से निकलने वाले पानी से भी यमुना नदी में अमोनिया का लेवल बढ़ जाता है। उन्होंने यह आरोप भी लगाया था कि हरियाणा सरकार के सुस्त रवैये के चलते यमुना में बड़ी मात्रा में औद्योगिक कचरा डाला जा रहा है जिससे यमुना में अमोनिया का स्तर बढ़ रहा है।पिछले साल, एनजीटी की ओर से नियुक्त यमुना निगरानी समिति ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति और औद्योगिक आयुक्त से नदी में अचानक झाग बनने के पीछे के कारण पर रिपोर्ट की थी। NGT की दो सदस्यीय समिति ने CBCB और DPCC अध्यक्ष संजय खिरवार और औद्योगिक आयुक्त विकास आनंद से नदी में झाग उत्पन्न होने के स्रोत का पता लगाने के लिए कदम उठाने और जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा था। CBCB ने अपनी रिपोर्ट में यमुना में झाग बनने के पीछे का कारण फॉस्फेट की अधिक मात्रा को बताया था, जो कि ज्यादातर घरेलू कामो से निकलते हैं। 

ये भी पढ़े:- अगर आप के स्मार्टफोन में दिखे ये 10 चीज़े तो हो जाएं सावधान, हैक हो सकता है आपका स्मार्टफोन

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button