अपराधदिल्लीदेश

स्पेशल सेल को मिली बड़ी कामयाबी, वॉन्टेड समेत दो संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने नौ मई को मोहाली में पंजाब पुलिस के इंटेलिजेंस हेड क्वार्टर पर हुए आरपीजी हमले में वॉन्टेड एक आरोपी समेत दो...

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई, ISI समर्थित आतंकी संगठन खालिस्तान और गैंगस्टर के एक खतरनाक गठजोड़ का खुलासा किया है।

दिल्ली पुलिस ने मोहाली में पंजाब पुलिस के इंटेलिजेंसी के हेड़क्वाटर पर आरपीजी (RPG) हमला करने वाले फैजाबाद, यूपी, 17 वर्ष के किशोर को जाम नगर,गुजरात से पकड़ा है। और इसके साथ ही खालिस्तानी आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा के सहयोगी तरण-तारण, पंजाब निवासी 22 वर्ष के अर्शदीप को गिरफ्तार किया है।

बालिग और उसके साथी दीपक सुरखपुर के साथ मोनू डागर को RPG हमले के बाद फिल्म अभिनेता (Actor) सलमान खान की हत्या करने के लिए कहा गया था, लेकिन मौके पर अमृतसर,पंजाब में राणा कंडोवालिया की हत्या का इसको टास्क दे दिया था। इस वजह से एक्टर सलमान खान की हत्या को टाल दिया गया था। इससे पता लगता है कि लारेंस बिश्रोई ने अभिनेता सलमान खान की हत्या के लिए गैंगस्टर के कई तिरोह को टास्क दिया गया था। इस गिरोह ने अभिनेता सलमान की हत्या के लिए रेकी नहीं की थी।

इनकी गिरफ्तारी से नांदेड़, महाराष्ट्र में बिल्डर संजय बियाणी की हत्या की गुत्थी भी सुलझ गयी है। दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल आयुक्त एचजीएस धालीवाल के मुताबिक़ पंजाब पुलिस के मोहाली में इंटेलिजेंस हैडक्वाटर पर 9 मई, 2022 को हुए RPG हमले के बाद दिल्ली पुलिस सक्रिय हो गई। एसीपी (ACP) राहुल विक्रम, इंस्पेक्टर दलीप, विक्रम और निशांत की टीम आरोपियों की तलाश कर रही थी।

जांच के दौरान पता लगा कि बब्बर खालसा इंटरनेशनल ने आईएसआई (ISI) और स्थानीय गैंगस्टर गठजोड़ के साथ इस साजिश को अंजाम दिया है। जांच के दौरान पता लगा कि आरपीजी हमला फैजाबाद, यूपी निवासी किशोर और गांव सुरखपुर, हरियाणा निवासी दीपक सुरखपुर ने किया है। और इसके साथी ही ये भी पता लगा कि हमले की साजिश गैंगस्टर से आईएसआई की कठपुतली हरविंदर सिंह उर्फ रिंदा ने रची थी। इसके साथ ही एक और भगोड़ा गैंगस्टर लखविंदर सिंह लांडा ने हमले की साजिश में उसका साथ दिया है।

इस टीम ने कई महीने की जांच करने के बाद जाम नगर, गुजरात से बृहस्पतिवार को एक नाबालिग को पकड़ लिया। वहीं से आरोपी अर्शदीप को भी गिरफ्तार किया गया। दोनों आरोपियों को हवाईजहाज से दिल्ली ले आया गया है। पकड़ा गए किशोर का नाम नांदेड़, महाराष्ट्र में हुई बिल्डर संजय बियाणी की हत्या में नाम सामने आया है। ये हत्या रिंदा ने करवाई थी।

और उसने बिल्डर से पांच करोड़ की रंगदारी मांगी थी। रंगदारी नहीं देने पर नाबालिग और दीपक सुरखपुर ने हत्या कर दी। नाबालिग ने दीपक के साथ पंजाब के अमृतसर में निजी हॉस्पिटल के बाहर गैंगस्टर राणा कंडोवालिया की हत्या कर दी थी। ये हत्या गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई ने करवाई था। ये लारेंस बिश्रोई का दुश्मन था। अर्शदीप ने पंजाब के तरण-तारण, और शाहाबाद कुरुक्षेत्र, हरियाणा में बम रखे थे। ये बम के इन मामलों में वांछित चल रहा था।

विशेष पुलिस आयुक्त धालीवाल के मुताबिक़ ये प्रावधान है कि अगर नाबालिग आरोपी 16 साल से बड़ा है और 18 साल का नहीं है। और अगर वह गंभीर आपराधिक वारदातों में शामिल है तो ये कोर्ट को यह अधिकार है कि वह नाबालिग आरोपी के साथ बालिग की तरह कानूनी कार्रवाई करने का आदेश दे सकता है। और इसके लिए दिल्ली पुलिस कोर्ट जाएगी। फिलहाल आरोपी 17 वर्ष का है। और उसे जुबेनाइल जस्टिस बोर्ड में पेश किया गया है।

Insta loan services

यह भी पढ़े: कृपाण धारी सिखों को परीक्षा में बैठने की अनुमति, आना होगा एक घंटा पहले

Gagandeep Singh

गगनदीप सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। जहां ये दिल्ली से जुड़ी सारी क्राइम की खबरें निडर होकर अपने लेख से लोगों तक पहुंचाते है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button