दिल्लीदिल्ली एनसीआर

दिल्ली के शास्त्री पार्क में बनने जा रहा है शहरी वन, प्रदूषण से मिलेगा छुटकारा

अब दिल्ली को प्रदूषण मुक्त किया जा रहा है जहां धीरे -धीरे शहरी वन का निर्माण किया जा रहा है जिससे लोगों को ताजी हवा में सांस मिल सके

दिल्ली में बहुत से निर्माण किये जा रहे है जिसके चलते लोगों को अच्छी सुविधाएं मिल सके। ऐसे में सरकार द्वारा अब दिल्ली को प्रदूषण मुक्त किया जा रहा है जहां धीरे -धीरे शहरी वन (Urban Forest) का निर्माण किया जा रहा है जिससे लोगों को ताजी हवा में सांस मिल सके।

बता दें कि दिल्ली में अब जल्द ही अर्बन फोरेट्स बनने जा रहा है जहां आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ ताज़ी हवा का लुफ्त उठा सकते है। ऐसे में ये निर्माण अभी उत्तर-पूर्वी दिल्ली के शास्त्री पार्क इलाके में होने जा रहा है जिसका फायदा होगा कि लोग प्रकृति की गोद में सुबह-शाम सैर कर सकेंगे।

रिपोर्ट्स में बताया गया कि शास्त्री पार्क मेट्रो स्टेशन के पास शहरी लोगों के लिए वन को विकसित किया जायेगा और वन एवं वन्यजीव विभाग ने 15 हेक्टेयर भूमि को चिन्हित किया गया है। इस क्षेत्र में बाड़ लगाने का काम शुरू हो गया है। पूरे क्षेत्र को हरियाली के साथ विकसित करने के साथ यहां लोगों को बहुत सी सुविधाएं भी मिल सकेंगी।

ये मिलेगी सुविधाएं

साथ ही शहरी वन में विभाग की ओर से बेसिक सुविधाएं देने पर जोर दिया जाएगा। यहां गजिबो, शौचालय व बेंच की सुविधा भी रहेगी। वही लोग सुबह योग व ध्यान के लिए भी पार्कों का रुख करते हैं, लेकिन इलाके में यह सुविधा नहीं होने की वजह से भी बेहतर जगह का विकल्प मिल सकेगा।

इसी के साथ शहरी वन की खास बात ये होगी कि इलाके के लोग यहां वॉच टावर से पूरे वन की खूबसूरती निहार सकेंगे। साथ ही टावर का इस्तेमाल वन की निगरानी के लिए भी किया जाएगा। इस वन कि एक और खास बात है कि शहरी वन में औषधीय पौधे लगाए जाएंगे। इसमें तुलसी, सर्पगंधा, नीम, बेल, आंवला, घृत कुमारी,अश्वगंधा, पाथरचट्टा, लैवेंडर, सदाबहार व दालचीनी समेत अन्य प्रकार के पौधे शामिल हैं।

Vishalgarh Farms
यह भी पढ़े: दिल्ली से शिमला जाना हुआ और भी आसान, आज से शुरू हुई पहली फ्लाइट

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button