दिल्लीदिल्ली एनसीआर

थोड़ी सी बारिश से आखिर क्यों डूब रही है दिल्ली? उपराज्यपाल ने किया का दौरा

30 जून को हुई बारिश ने बहुत सी जगह जलभराव होने से कारण दिल्ली सरकार, MCD समेत सभी संबंधित एजेसियों को पुलिस ने आगाह किया है

दिल्ली में बारिश के कारण हर साल देखा जाता है कि जलभराव से पूरी दिल्ली परेशान हो जाती है। इसी के चलते सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि इन चीजों को जल्द ही ठीक किया जाए क्योकि अभी हाल ही में हुई बारिश से 96 जगहों पर इसका प्रभाव पड़ा है जिसके बाद अब इन चीज़ो पर ज्यादा जोर डाला जा रहा है।

बता दें कि दिल्ली की सिविक एजेसियां अगर जल्द नहीं सुधरीं तो तेज बारिश में दिल्ली के बुरे हाल हो सकते है। इसका कारण यह है कि हाल ही में बारिश अलग-अलग इलाकों में 96 जगहों हुई जिसका अंजाम ट्रैफिक जाम के तौर पर सामने आया है। 30 जून को हुई बारिश से बहुत सी जगह जलभराव होने के कारण दिल्ली सरकार, MCD समेत सभी संबंधित एजेसियों को पुलिस ने आगाह किया है कि इन जगहों पर तत्काल जल निकासी का उचित इंतजाम किया जाए और अगर ऐसा नहीं हुआ तो आने वाले बारिश के मौसम में दिल्ली डूब सकती है। इसी के चलते सभी एजेसियों को पत्र लिखकर ऐसी जगहों की जानकारी दी है, जहां पहली मानसूनी बारिश के दौरान दो से तीन घंटे के बीच जाम लगा था।

हालाँकि, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 30 जून को हुई बारिश के कारण दिल्ली के 96 जगहों पर जबदस्त जाम लगा था। गोकलपुरी-लोनी गोल चक्करसीलमपुर, सीमापुरी, प्रीत विहार, प्रीत विहार- विजय चौक-विकास मार्ग और प्रीति विहार मेट्रो स्टेशन आदि क्षेत्रों में जलभराव से करीब तीन घंटे जाम लगा था। इन सब को देखते हुए दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने जिन जगहों पर जलभराव हुआ है वहां की सिविक एजेंसियों को पत्र लिखा है, जिसमे उन्होंने जलभराव के कारण पता करने के लिए कहा गया है जिससे अगली बारिश में जलभराव न हो और ट्रैफिक सामान्य रूप से चल सके।

उपराज्यपाल ने दौरा किया

इन सब स्थिति को देखते हुए जिन 96 जगहों पर जबरस्त जाम लगा था उसमें से करीब नौ जगहों पर उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने दौरा किया था। जिसमे उन्होंने इसके कारण जाने और इसका जल्द सुझाव न करने के लिए अफसरों को काफी खरी-खोटी सुनाई थी।

Tez Tarrar App
यह भी पढ़े: DTC में निकली इन पदों के लिए नौकरिया, मिलेगी 60 हजार से ज्यादा सैलरी

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button