दिल्लीदिल्ली एनसीआर

दिल्ली में शुरू हुआ Winter Action Plan, 1 जनवरी 2023 तक पटाखों पर बैन

दिल्ली में आज से प्रदूषण को नियंत्रण में करने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 15 सूत्रीय विंटर एक्शन प्लान की घोषणा कर दी है

दिल्ली में प्रदूषण बहुत ज्यादा मात्रा में फेल रखा है जिससे लोगों को बहुत सी दिक्कतें होती है। साथ ही सर्दियों का मौसम शुरू होने वाला है और प्रदूषण की मात्रा बहुत ज्यादा होने वाली है जिसको रोकने के लिए दिल्ली सरकार पूरी कोशिश में जुटी है कि इसको कम कर दिया जाए। ऐसे में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 15 सूत्रीय Winter Action Plan की घोषणा कर दी है।

बता दें कि दिल्ली में आज यानि 1 अक्टूबर से प्रदूषण को नियंत्रण में करने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 15 सूत्रीय विंटर एक्शन प्लान की घोषणा कर दी है। जिसके चलते धूल विरोधी अभियान, पटाखों पर प्रतिबंध, ग्रीन वार रूम, सड़कों की सफाई व पानी का छिड़काव और प्रदूषण की 24 घंटे निगरानी समेत कई कदम उठाए जाएंगे।

ऐसे में सबसे ज्यादा ध्यान पटाखों पर रखा जा रहा है जहां इसे रोकने के लिए निगरानी कि जा रही है जिसमे 210 टीमें लगाई गई हैं और पटाखों की ऑनलाइन डिलीवरी पर भी रोक है। इसी के साथ पराली गलाने के लिए निशुल्क बायो डिकंपोजर घोल का छिड़काव किया जाएगा।

आपको बता दें कि तीन अक्तूबर से शुरू ग्रीन वार रूम में विशेषज्ञ प्रदूषण का आकलन कर रणनीति बनाएंगे। छह अक्तूबर से धूलरोधी अभियान शुरू होगा। वही मुख्यमंत्री ने बताया कि पांच हजार वर्ग मीटर से अधिक की निर्माण साइट पर एंटी स्मॉग गन अनिवार्य है। दिल्ली में 233 एंटी स्मॉग गन लगाए जा रहे हैं। 80 रोड स्वीपिंग व 521 पानी छिड़काव मशीनें तैनात होंगी।

हर समय निगरानी रहेगी जारी

सरकार ने इस बार प्रदूषण को कम करने के लिए IIT कानपुर के साथ मिलकर अध्ययन किया है कि इस समय दिल्ली में कितना प्रदूषण है और प्रदूषण की वजह क्या है। जिसके लिए राउज एवेन्यू रोड पर एक सुपर साइट बनाई गई है। एक मोबाइल वैन है, जिस पर कई उपकरण लगाए गए हैं। इससे सर्कार को 20 अक्तूबर से पहली बार कुछ डाटा आना शुरू हो जाएगा। साथ ही इस डिवाइस से यह भी पता चलेगा कि हवा में कहां-कहां से क्या-क्या प्रदूषण है।

इतना ही नहीं इस बार केजरीवाल सरकार द्वारा पर्यावरण मित्र के लिए 3500 वालंटियर ने पंजीकरण किया है। ये वालंटियर दिल्लीवालों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करेंगे और पर्यावरण मित्र बनने के लिए मोबाइल नंबर 8448441758 पर मिस्ड कॉल दे सकते हैं।

ई-वेस्ट पार्क का निर्माण

इस बार ई-वेस्ट कूड़े से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए होलंबी कलां में 20 एकड़ का ई-वेस्ट पार्क बनाया जा रहा है। इसकी स्थापना के बाद दिल्ली से निकलने वाला सारा इलेक्ट्रॉनिक कचरा ई-वेस्ट इखट्टा पार्क में किया जाएगा जहां इसका वैज्ञानिक तरीके से निस्तारण किया जाएगा।

Accherishtey यह भी पढ़े: दिल्ली से शिमला जाना हुआ और भी आसान, आज से शुरू हुई पहली फ्लाइट

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button