दिल्लीसाउथ वेस्ट दिल्लीहेल्थ

महिला का आरोप, ‘आकाश हॉस्पिटल बना मेरे पति की मौत की वजह’, जाने पूरी खबर

महिला ने यह भी बताया की "दुर्घटना के करीब 3 घंटे बाद हमारे एक दोस्त के पास पुलिस स्टेशन से कॉल आया तब हमें इस घटना की जानकारी मिली और पता...

मामले में महिला ने बताया की “2 September की शाम को दिल्ली के द्वारका सेक्टर 3 में मेरे पति का Accident हुआ था और एक्सीडेंट के तुरंत बाद वहां मौजूद लोग उन्हें द्वारका सेक्टर 3 के आकाश हॉस्पिटल (Aakash Hospital) में लेकर गए थे और मेरे पति के सर पर काफी गहरी चोट आई थी। उन्हें तुरंत ट्रीटमेंट की जरूरत थी लेकिन आकाश हॉस्पिटल द्वारा उनका ट्रीटमेंट नही किया गया।परिवार वालों को इस घटना की सूचना भी नहीं मिली थी”।

महिला ने यह भी आरोप लगाया की आकाश हॉस्पिटल की तरफ से खाना पूर्ती करके करीब दो से ढाई घंटे बाद उन्हें बिना किसी को सूचित किए सफदरजंग अस्पताल भेज दिया गया। आकाश हॉस्पिटल ने जिस एम्बुलेंस में उन्हें जिनके भी साथ भेजा था वो लोग उन्हें वहां पर लावारिस की तरह छोड़कर आ गए थे”। महिला ने यह भी बताया की “दुर्घटना के करीब 3 घंटे बाद हमारे एक दोस्त के पास पुलिस स्टेशन से कॉल आया तब हमें इस घटना की जानकारी मिली और पता चलते ही हम सफदरजंग अस्पताल पहुचे तब हमनें उन्हें एडमिट कराया और उनके इलाज की प्रक्रिया शुरू हुई लेकिन तब तक उनकी हालत और बिगड़ चुकी थी और लगातार बिगड़ती चली गई”।

महिला का कहना है की आकाश हॉस्पिटल वालो की वजह से 5 September की सुबह उनके पति अपने परिवार को और इस मतलबी दुनिया को छोड़कर चले गए। महिला ने आरोप लगाया की “Aakash Hospital को ट्रीटमेंट का पैसा तुरन्त चाहिए था इसलिए हॉस्पिटल वालो ने इलाज़ नही किया और अपना पड़ला झाड़ लिया और कागज़ी करवाई में Bed ना होने का हवाला दे दिया”।

महिला का कहना है की “अगर ये Hospital वाले अपनी जिम्मेदारी ईमानदारी से निभाते तो मेरे पति का ट्रीटमेंट हो जाता और वो हमारे बीच होते अपने परिवार अपनी पत्नी और बच्चों के साथ खुशी से ज़िन्दगी जी रहे होते सिर्फ मेरे पति ही नही ऐसे बड़े-बड़े हॉस्पिटल में पैसों के कारण बहुत सारे लोगों के साथ ऐसा होता रहता है इसलिए इन्हें रोकना जरूरी है वरना ऐसे ना जाने कितने परिवार उजड़ते रहेंगे और कितनों के बच्चे अनाथ होते रहेंगे” महिला ने ये भी आरोप लगाया की 3 महीने से पुलिस प्रशासन या सरकार से उन्हें किसी भी तरह की साहयता नहीं मिली अब पीड़िता प्रीति अपने पति को इन्साफ दिलवाने के लिए द्वारका सेक्टर 3 के आकाश हॉस्पिटल के सामने 3 दिन से लगातार प्रदर्शन कर रही ही है और महिला का कहना है “अगर मुझे इन्साफ नहीं मिला तो मै लगातार हॉस्पिटल के सामने प्रदर्शन करुँगी और इन्साफ के लिए लड़ती रहूंगी”

Accherishtey

ये भी पढ़े: अदालत में पत्नी ने पति का कॉलर पकड़कर कर दी धुलाई, मजिस्ट्रेट हैरान

Gagandeep Singh

गगनदीप सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। जहां ये दिल्ली से जुड़ी सारी क्राइम की खबरें निडर होकर अपने लेख से लोगों तक पहुंचाते है

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button