दिल्ली

दिल्ली में यमुना सूखने के कगार पर, पानी की किल्लत मचा सकती है हाहाकार

वजीराबाद में यमुना का जलस्तर काफी कम होकर निम्नतम स्तर पर आ गया है, जिसके कारन से यमुना पूरी तरह सूखने के कगार पर पहुंच गई है.

वजीराबाद में यमुना का जलस्तर काफी कम होकर निम्नतम स्तर पर आ गया है, जिसके कारन से यमुना पूरी तरह सूखने के कगार पर पहुंच गई है. दिल्ली में पानी का संकट गहरा गया है. वजीराबाद or चंद्रावल जल शोधन संयंत्र से पानी आपूर्ति करीब 50 प्रतिशत प्रभावित हुई है.

आपको बता दें कि, दिल्ली को करीब 1200 एमजीडी पानी की जरुरत होती है, जबकि जल बोर्ड से 950 एमजीडी पानी की आपूर्ति की जाती है. वजीराबाद तालाब में पानी का स्तर कम होने कि वजह से पानी की आपूर्ति में लगभग 65 एमजीडी तक की कमी चुकी है. बोर्ड ने मंगलवार को हरियाणा सिंचाई विभाग को एक पत्र भी लिखा था, जिसमें विभाग ने यमुना में 150 क्यूसेक अतिरिक्त पानी तत्काल छोड़ने के लिए कहा था.

यह तीन सप्ताह से भी कम वक्त में चौथी बार है, जब हरियाणा सिंचाई विभाग को पत्र लिखा गया है. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने दिल्ली सरकार को वापिस जवाब दिया. उन्होंने कहा था कि पानी बंटवारे के मुद्दे पर किसी भी प्रकार कि क्षुद्र राजनीति नहीं होनी चाहिए. अगर दिल्ली को पानी चाहिए तो पंजाब से अपने राज्य के वैध हिस्से को जारी करने के लिए कहना चाहिए.

Hair Crown


यह भी पढ़े: Petrol Diesel Price: बढ़ती कीमतों के बोझ से मिलेगी राहत, जानें सरकार का नया फैसला

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button