दिल्लीदिल्ली एनसीआरशिक्षा

दिल्ली के स्कूलों में अब सरकार द्वारा शुरू होगा इन कक्षाओं में ‘द लैंग्वेंज ऑफ इंडिया प्रोजेक्ट’

अब सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के बच्चों को भारतीय भाषाओं को खेल-खेल में समझाने की दिशा में कदम बढाने के प्रयास शुरू हो चूका है

दिल्ली सरकार द्वारा शिक्षा पर भी फोकस किया जा रहा है जहां पढ़ने वाले बच्चों को लिए सरकार नयी योजना ला रही है। ऐसे में अब सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के बच्चों को भारतीय भाषाओं को खेल-खेल में समझाने की दिशा में कदम बढाने के प्रयास शुरू हो चूका है। इसके लिए अब स्कूलों में 6 से 8 तक के बच्चों के लिए द लैंग्वेंज ऑफ इंडिया प्रोजेक्ट शुरू किया जा रहा है।

बता दें कि इस प्रोजेक्ट के चलते अब स्कूल के बच्चों को शब्दों का खेल जिसमें भाषाओं के विभिन्न लोकप्रिय शब्दों का अर्थ, विभिन्न भाषाओं में पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता, स्थानीय क्षेत्रीय पर्वों को मनाना एवं प्रार्थना सभा में उनका महत्व बताना जैसी गतिविधियां कराई जाने वाली है।

ऐसे में शिक्षा निदेशालय के अनुसार अब सभी सरकारी व सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में भारत की तकरीबन सभी भाषाओं का परिचय देने के लिए द लैंग्वेज ऑफ इंडिया प्रोजेक्ट शुरू किया जाने वाला है और राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत छठी से आठवीं कक्षा तक के छात्रों के लिए भाषा सीखने पर जोर देने वाली है।

साथ ही इस प्रोजेक्ट की गतिविधियों में बच्चे खेल के रूप में हिस्सा ले सकेंगे और इस प्रोजेक्ट के चलते छात्रों को भारत की एकता के बारे में समझ पैदा होगी और उन्हें भारत की सुंदर सांस्कृतिक विरासत के बारे में भी जागरूक किया जायेगा। जिसके तहत होने वाली गतिविधियां आनंददायक होंगी और इसके लिए बच्चों का आकलन नहीं किया जाएगा।

चित्र, पोस्टर से सिखाया जायेगा

हालाँकि, प्रोजेक्ट के चलते स्कूलों में बच्चों के लिए शब्दों का खेल आयोजित होगा जिसमें उन्हें भाषाओं के विभिन्न लोकप्रिय शब्दों के अर्थ शामिल होंगे। इस प्रोजेक्ट में बच्चों को विभिन्न भाषाओं में पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता आयोजित कराये जायेंगे और साथ ही वार्षिक समारोहों के दौरान विभिन्न भाषाओं के चित्र, फोटोग्राफ व नृत्य, संगीत के माध्यम से भाषा के संबंध में बताया जाएगा।

Accherishtey

ये भी पढ़े: गाड़ियों के लिए फिर से बदला गया है नंबर प्लेट सिस्टम, लगाई जाएगी Toll Plate

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button