दिल्लीशिक्षा

दिल्ली में खुलेगा शहीद भगत सिंह के नाम पर स्कूल, फौज की दी जाएगी ट्रेनिंग

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बड़ा ऐलान किया है। दरअसल उन्होनें कहा कि सैनिक स्कूल का नाम अब शहीद भगत सिंह के नाम पर रखा जाएगा।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बड़ा ऐलान किया है। दरअसल उन्होनें कहा कि सैनिक स्कूल का नाम अब शहीद भगत सिंह के नाम पर रखा जाएगा।

साथ ही इस स्कूल में बच्चों को फौज में भरती होने की ट्रेनिंग दी जाएगी। आपकों बता दे कि केजरीवाल ने कहा कि 23 मार्च को शहीद ए आजम भगत सिंह का शहादत दिवस है।

23 मार्च के दिन भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरू को फांसी पर लटका दिया गया था। जानकारी के अनुसार, 20 दिसंबर को कैबिनेट ने फैसला लिया था कि दिल्ली में एक ऐसा स्कूल बनाया जाएगा जहां बच्चों को फोज में भर्ती होने की ट्रेनिंग दी जाएगी।

इसे उनहें एनडीए, सेना, नेवी और एयरफोर्स में भर्ती होने में सहायता मिलेगी। इसी को लेकर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि उस स्कूल का नाम होगा Shaheed Bhagat Singh Armed Preparatory।

साथ ही उन्होनें बताया कि स्कूल में पढ़ाई से लेकर सब कुछ मुफ्त में होगा। बता दें कि यह स्कूल आवासीय होगा। इसमें लड़के और लड़कियों को अलग रहने की सुविधा दी जाएगी। 

केजरीवाल ने कहा कि स्कूल को बनाने के लिए 14 एकड़ का कैंपस बनाया जा रहा है। साथ ही स्कूल में एक्सपर्ट फैक्लटी सटाफ के तौर पर रिटायर्ड आर्मी, नेवी, एयरफोर्स अफसर होंगे।

बताया जा रहा है कि इस स्कूल में दिल्ली का कोई भी बच्चा एडमिशन ले सकता है। इस स्कूल में 9वीं और 11वीं कक्षा में एडमिशन ले सकेंगे।

दोनों कक्षाओं के लिए 100- 100 सीटें होंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि, इस साल से इसकी क्लास शुरू हो जाएगी।  ऐसें में केवल 200 सीटों के लिए, 18000 आवेदन आ चुके हैं।

27 मार्च को नई क्लास में दाखिले के लिए और 28 मार्च को 11वीं क्लास में एडमिशन के लिए टेस्ट होंगे। बता दें कि यह पहले चरण का टेस्ट होगा। नतीजों के आधार पर बच्चों को एडमिशन दिया जाएगा। 

Vishalgarh Farms

ये भी पढ़े: अब हाईटेक होगी दिल्ली पुलिस, वर्दी पर लगा होगा कैमरा

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button