दिल्लीशिक्षा

DU के Zakir Hussain College में छात्रों ने जमकर किया विरोध प्रदर्शन

जाकिर हुसैन कॉलेज में छात्रों द्वारा धरना प्रदर्शन किया गया। इस धरने की वजह सिर्फ ये थी कि कॉलेज में के छात्रों को अंदर नहीं लिया जा रहा था।

दिल्ली के जाकिर हुसैन कॉलेज में छात्रों द्वारा धरना प्रदर्शन किया गया। आपकों बता दे कि इस धरने की वजह सिर्फ ये थी कि कॉलेज में School Of Open Learning के छात्रों को अंदर नहीं लिया जा रहा था।

हालांकि ये कॉलेज छात्रों को दिल्ली विश्वविद्यालय School Of Open Learning के द्वारा दिया गया है।  फिर भी कॉलेज द्वारा बच्चों को झूठे बहाने बनाकर वापस भेज दिया जाता था।

लेकिन रविवार सुबह कॉलेज प्रशासन की तरफ से ऐसा हुआ कि, छात्र काबू खो बैठे। दरअसल, उनके पास कॉलेज होने के मैसेज आऐ हुऐ थे लेकिन उस पर समय नहीं लिखा था पर फिर भी छात्र 9 बजकर 30 मिनट पर कॉलेज पहुंच गए थे। जिसके बाद कॉलेज प्रशासन द्वारा कहा गया कि तुम लेट हो अब गेट नहीं खुलेगा।

जिसके बाद सभी छात्रों द्वारा कॉलेज के विरोध में सुबह 9 बजकर 30 मिनट से लेकर 12 बजे तक धरना प्रदर्शन किया। लेकिन फिर भी कॉलेज ने बच्चों के लिए गेट नहीं खोला।

जिसके बाद कॉलेज के गार्ड ने भी गेट पर आकर बच्चों पर चिल्लाना व अभद्र तरीके से बोलना शुरू कर दिया। इसी बीच किसी छात्र ने दूसरे गेट का ताला तोड़ दिया।

कॉलेज प्रशासन को बच्चों की शिक्षा का थोड़ा सा भी लिहाज नहीं रहा और उन्हें अंदर नहीं लिया गया। इन्हीं सब चीज़ो के बीच बच्चों के आक्रोश को कॉलेज प्रशासन भी नहीं रोक पाया, धरना प्रदर्शन करने वाले बच्चों ने अंदर के छात्रों को निकलता देख उन्हें भी अंदर धकेला व खुद भी अंदर जाने के लिए उतारू हो गए।

साथ ही छात्रों का कहना है कि वो गरीब परिवार के बच्चे थे। इसलिए धरना प्रदर्शन और नारेबाजी करनी पड़ी। इस बार तो  कॉलेज लेट होने का बहाना लगा रहा है। लेकिन उससे पहले भी कई रविवार कॉलेज तरह तरह के बहाने लगाकर सोल के छात्रों को वापस भेज देता है।

Tez Tarrar App

ये भी पढ़े: आवारा कुत्तों से है परेशान ? बस खींचे फोटो और करें यहां अपलोड, जल्द होगी कार्रवाई

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button