हेल्थ

परांठे बनाने के 6 हेल्‍दी तरीके, जितना चाहे उतना खाये, सेहत पर नहीं होगा असर

परांठे किसे पसंद नहीं होते, अगर बात की जाएं सर्दियों की तो, सर्दियों में तो भरपूर मखन के साथ गरम- गरम परांठो का सेवन किया जाता है.

परांठे किसे पसंद नहीं होते, अगर बात की जाएं सर्दियों की तो, सर्दियों में तो भरपूर मखन के साथ गरम- गरम परांठो का सेवन किया जाता है. काफी लोग तो नाश्ते में भी परांठा खाना पसंद करते है. लेकिन बहुत से लोग परांठे से परहेज करते है, क्योंकि इनमे कार्ब और फैट बहुत होता है. परांठे में मौजूद तेल लोगो का केलोस्ट्रॉल भी बढ़ा देता है, इसलिए हम आपको बताने जा रहे है परांठे बनाने के लिए हेल्‍दी तरीके, जिससे आपकी सेहत पे नहीं होगा कोई असर.

healthy parantha

​आटे की तैयारी-

परांठे बनाने का बेस, यानि आटा, जो की हेल्थ वैल्यू को निर्धारित करता है, इसलिए हमेशा परांठा बनाने के लिए मैदे की जगह मल्टीग्रैन आटे का ही इस्तेमाल करें. ये परांठा आपकी सेहत के लिए फायदेमंद होने के साथ एक अच्छा विकल्प भी है.

आप प्रोटीन, प्रोबायेाटिक्स जैसे और भी पोषक तत्व का इस्तेमाल करने के लिए आटे में दही को भी डाल सकते है, जो काफी अच्छा रहता है. अगर आप कैल्शियम की मात्रा को बढ़ाना चाहते है, तो आटे में दूध को भी मिला सकते है. इससे परांठे बहुत नरम बनने के साथ ही शरीर में कैल्शियम की कमी को भी पुरा करेंगे. 

ज्यादातर लोग आलू और पनीर के परांठे के शौंकीन होते है. लेकिन सोया, चना, ब्रोकली, मिक्स वेज, टोफू, दाल, अंडे और मिक्स स्प्राउट्स की स्टफिंग करना भी एक गज़ब का ऑप्शन है. अगर आप रोज सुबह स्टफ परांठा ही खाते है, तो आपके लिए इससे ज्यादा अच्छा कुछ और नहीं होगा. सिर्फ ये कोशिश करे की आटे में जितनी ज्यादा सब्जियों का सेवन कर सकते है उतना करें.

परांठे को अच्छे से पकाना ही काफी नहीं होता, बल्कि उसे सजाना भी उतना ही जरुरी होता है, क्योंकि ऐसा कहा जाता है कि सजावट को देख कर और भी खाने का मन करता है. परांठे को सजाने के लिए उसमे जड़ी बूटियों का इस्तेमाल कर सकते है. जैसे की अजवायन, तुलसी, धनिया, पुदीना ऐसे हर्ब हैं, इनसे सेहत भी अच्छी रहती है. 

healthy parantha

​सही तेल चुनें

परांठो को तलने के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले तेल में काफी मात्रा में केलोस्ट्रॉल होता है. इसलिए अब लोग इसका इस्तेमाल कम करने लग गए है. अगर आप परांठे को सेकने के लिए हेल्दी  फैट चुनते है तो, आप इसे लौ कैलोरी में बदल सकते है. 

healthy parantha

स्टफिंग को हेल्दी बनाएं

आप परांठे को करारा बनाने के लिए स्टफ़िंग में भुने हुए चीया सीड्स को मिला सकते है. बता दे कि ये सब बीज पुरे पोषक तत्व से भरे हुए होते है. यदि आप इन्हें परांठे में मिलाएंगे, तो इनकी न्यूट्रिशन वैल्यू ज्यादा हो जाएगी.

healthy parantha

एक बार में कितने पराठे खाने चाहिए

पोर्शन को कंट्रोल करना हैल्दी रहने के लिए सबसे जरुरी है. एक परांठे में लगभग 250 – 300 कैलोरी  होती है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, एक बार में एक ही परांठा खाएं. एक पुरी मील के लिए इस परांठे को दही और दाल के साथ ही खाएं. 

Aadhya technology

यह भी पढ़े: Air Pollution -प्रदूषण से बचने के लिए अपनाये यह आयुर्वेदिक उपाए

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button