देशहेल्थ

केजरीवाल सरकार देश में पहली बार ला रही है E-Health Card योजना, जानें

मार्च 2023 तक इस प्रणाली के शुरू होने की आशा है. स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली का मकसद स्वास्थ्य प्रबंधन को विश्वस्तरीय बनाना है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने देशवासियों के लिए एक बड़ा ऐलान कर दिया है. शुक्रवार को दिल्ली की स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली (एचआईएमएस) प्रगति का आंकलन करने के लिए एक बैठक की.

CM केजरीवाल ने संबंधित विभागों को एचआईएमएस प्रणाली लागू करने के लिए 3 महीनें पहले दिल्लीवासियों को ई-हेल्थ कार्ड उपलब्ध कराने के निर्देश दिए.

बता दें कि मार्च 2023 तक इस प्रणाली के शुरू होने की आशा है. स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली का मकसद स्वास्थ्य प्रबंधन को विश्वस्तरीय बनाना है.

इस तरीके की योजना भारत में पहली बार देखने को मिलेगी. पूरे देश में ये अपनी तरह के इ-हेल्थ कार्ड होंगे. इस कार्ड में मरीज़ की सभी मेडिकल जानकारी मौजूद होगी.

इस बैठक में सीएम केजरीवाल सहित उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और इस विभाग के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल थे.

इस प्रणाली के लागू होने के बाद लोगों को अस्पताल में लगने वाली लंबी लाइनों से छुटकारा मिल जाएगा. यहां तक की लोग अपने घर में बैठे-बैठे ऑनलाइन पोर्टल का इस्तेमाल करके डॉक्टर से अपॉइंटमेंट ले सकते हैं.

इससे लोगों का काफी समय बचेगा और डॉक्टर से मिलने में भी काफी सहूलियत मिलेगी. अब आपको बताते है कि सरकार इस प्रणाली को लागू कैसे करेगी.

लोगों को ये कार्ड बनवाने के लिए अस्पतालों और दफ्तरों के चक्कर नही काटने पड़ेंगे, बल्कि सरकार लोगों को इस समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए खुद सर्वे करेगी.

हॉस्पिटल व अन्य निर्धारित जगहों पर भी हेल्थ कार्ड बनाए जाएंगे. इन हेल्थ कार्ड में व्यक्ति की पूरी मेडिकल हिस्ट्री मौजूद होगी. इन इ- हेल्थ कार्ड को घर-घर जाकर वितरित किया जाएगा.

Aadhya technology

ये भी पढ़े: गन्ने का रस डायबिटीज़ के पेशेंट्स के लिए फायदेमंद या खतरनाक? यहां जानें

Afreen Khan

आफरीन खान तेज़ तर्रार न्यूज़ में बतौर पत्रकार काम कर रही है और इनका मानना है कि पत्रकारिता की एक खासियत है कि वह कभी खामोश नहीं रहती ।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button