*/
ट्रेंडिंगदेश

आखिर क्यों नींबू की कीमतें हुई रिकॉर्ड तोड़, कब मिलेगी राहत? जानें

पिछले कुछ दिनो से नींबू की बढ़ती कीमतों ने सारें रिकॉर्ड तोड़ दिए है। नींबू की कीमत कई शहरों में तो 300 से 400 कीलों तक पहुंच गई है।

पिछले कुछ दिनो से नींबू की बढ़ती कीमतों ने सारें रिकॉर्ड तोड़ दिए है। आमतौर पर 50 से 60 किलों में बिकने वाले नींबू की कीमत कई शहरों में तो 300 से 400 कीलों तक पहुंच गई है।

आपकों बता दे कि 2 या 3 रूपये में बिकने वाला नींबू अब 10 से 15 रूपयेंं में बिक रहा है। नींबू की जरूरत गर्मी के मौसम में सबसे ज्यादा होती है। लेकिन अपनी रिकॉर्ड तोड़ कीमतों के चलते नींबू अब आम आदमी की पहुंच से बहार हो गया है। 

इसी को लेकर बीते 15 दिनों में नींबू के कीमत में काफी तेज़ी से उछाल देखने को मिल रहा है। ऐसें में देश के ज्यादातर शहरों में नींबू 250 से 400 कीलों तक बिक रहा है।

वहीं अगर राजधानी दिल्ली की बात की जाए तो वहां नींबू करीब 250- 300 रूपये प्रति कीलों बिक रहा है। देश के अन्य बड़े शहरों में भी नींबू की कीमत में तेज़ी से इज़ाफा हुआ है। 

आखिर नींबू के दामों में इतनी ज्यादा बढ़ोतरी का कारण क्या है?

दरअसल, देश में इन गर्मियों में नींबू के रिकॉर्ड तोड़ने की प्रमुख वजह ज्यादा बारिश और ज्यादा तापमान है। अब ऐसें में बेमौसम बरसात, साइक्लोन और ज्यादा गर्मी ने नींबू के टॉप-3 उत्पादक राज्यों आंध्र प्रदेश, गुजरात और कर्नाटक में नींबू की फसल को प्रभावित किया है। 

इसी को लेकर, आमतौर पर गर्मियों में जब नींबू की मांग साल में सबसे ज्यादा होती है, तो स्टोर किए गए हस्त बहार और ताजा अंबे बहार नींबू से ही सारी मांग पूरी होती है, लेकिन इस बार इन दोनों सीजन के प्रभावित होने से उत्पादन में कमी आई है। तो, इस तरह से नींबू की कम पैदावार की वजह से ही देश भर में नींबू की कीमतें रिकॉर्ड तोड़ रही हैं।

जानकारी के अनुसार,  नींबू की कीमतें अक्टूबर तक ही सामान्य होने की उम्मीद लगाई जा रही है, इसका कारण ये है कि  नींबू की अगली फसल अक्टूबर तक ही तैयार होगी। उसी के बाद ही नींबू की कीमत में सुधार होगा।

Madhavgarh Farms

ये भी पढ़े: DL के बिना भी पा सकते है चालान से छुटकारा, जानिए कैसे

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button