देश

उत्तर भारत में ठंड की दस्तक, जमने लगीं झीलें

दिल्ली एनसीआर में एयर पॉल्यूशन की वजह से प्रदूषण गंभीर स्तर पर सूर्य की किरणें नहीं पहुंच रही सीधी, लाहौल-स्पीति में तापमान शून्य ने नीचे, जमने लगीं झीलें

 

उत्तर भारत में ठंड का मौसम अब गहरा हो रहा है। दिल्ली एनसीआर में एयर पॉल्यूशन और प्रदूषण की वजह से सूरज की किरणें सही से नहीं पहुंच रही हैं। हालांकि, हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में ठंड का प्रभाव पहुंचा है। वहाँ पारा शून्य से भी कम हो गया है और पानी भी जम रहा है।

 

लाहौल-स्पीति जिले में बर्फबारी के कारण जीलें, झरने और अन्य प्राकृतिक जलस्त्रोत जम रहे हैं। यहाँ की झीलें और झरने भी अब बर्फ में बदल रही हैं। मनाली-लेह मार्ग पर स्थित दीपकताल झील का पानी भी ठंडे के कारण जम गया है। यह जगह मनाली-लेह मार्ग की यात्रीगणों के बीच बहुत लोकप्रिय है।

 

ठंड के मौसम में लोगों को खाना बनाने में भी मुश्किलें हो रही हैं। लोग अब रिहायशी इलाकों में जाकर प्यास बुझा रहे हैं क्योंकि जंगली जानवरों के लिए भी पानी की स्थिति खराब हो गई है।

 

लाहौल-स्पीति जिले में तापमान न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया है। कुकमसेरी में न्यूनतम तापमान -0.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। अन्य शहरों में भी ठंड का मौसम महसूस किया जा रहा है, जैसे की कल्पा में 3.2, मनाली में 5.4, सोलन में 7.8, नाहन में 14.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

 

मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, चार, पांच और छह नवंबर को मौसम साफ रहेगा, लेकिन सात नवंबर से फिर से बारिश-बर्फबारी का अनुमान है। आठ नवंबर को भी राज्य भर में मौसम खराब रहेगा।

Accherishtey

Related Articles

Back to top button