ट्रेंडिंगदेश

सरकार ने वाहनों के फिटनेस टेस्ट के नियम में किया बढ़ा बदलाव

वाहनों के प्रति फिटनेस टेस्ट में हो रही परेशानियों को सरकार द्वारा नए नियमो से जल्द ही आसान बनाने की सूचना सामने आ चुकी है।

वाहनों के प्रति फिटनेस टेस्ट में हो रही परेशानियों को सरकार द्वारा नए नियमो से जल्द ही आसान बनाने की सूचना सामने आ चुकी है। जहाँ वाहनों के मालिक अब किसी भी राज्य में अपने वाहनों का रजिस्ट्रेशन करवा सकते है। सरकार द्वारा पहले डीजल और पेट्रोल कि गाड़ियों में 10 और 15 साल के बाद बंद करने के आदेश निकाले गए थे उसमे भी बदलाव देखने को मिल सकते है। इसी के साथ मिनिस्ट्री ऑफ़ रोड एंड ट्रांसपोर्ट एंड हाइवेज ने 25 मार्च को इन सब जानकारियों को देखते हुए एक ड्राफ्ट नोटिस भी अपनी तरफ से जारी कर दिया है।  

रिपोर्ट्स कि माने तो सरकार ने ऑटोमेटेड टेस्टिंग स्टेशनों में भी बड़े बदलाव लाए है जिसमे लाइसेंसिंग कि शर्तो को बदला गया है, साथ ही टेस्टिंग को आसान करते हुए उसको सेल्फ ड्राइव कर दिया गया है ताकी किसी भी काम में कोई हेरा फेरी या गड़बड़ी की खबर सामने ना आ सके। यह सारा काम ऑटोमेटेड मशीन द्वारा किया जाएगा जहा से सीधी जांच सर्वर में भेजी जाएगी। इसी से जुडी खबर यह भी है कि जिस राज्य में वाहन का रेजिस्ट्रेशन कराया गया है उन्हें फिरसे टेस्टिंग कराना जरूरी नहीं है। 

नए टेस्ट रिजल्ट को जारी करके बहुत से लोगो को आसानी पहुचे इसलिए सरकार ने ATS द्वारा सेल्फ ड्राइव किया है जिससे कि फिटनेस जांच के लिए कई मशीनों का भी इस्तेमाल किया जाता है और अगर बात करे इलेक्ट्रिक वाहनों कि तो उनके लिए भी बहुत से डिवाइज़ कि मदद से उनकी टेस्टिंग की जाएगी। यह सारी चीजे प्रदुषण को देखते हुए सरकार द्वारा की जा रही है

Hair Crown Salon

ये भी पढ़े: 7 दिनों में छटी बार बड़े Petrol-Diesel के दाम, देखे रेट

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button