अपराधदेश

लड़की को ‘आइटम’ कहने पर मुंबई कोर्ट ने व्यक्ति को सुनाई डेढ़ साल की सजा

मुंबई की एक विशेष कोर्ट ने नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ करने के एक मामले में एक व्यक्ति को डेढ़ साल कैद की सजा सुनाई और साथ में कहा कि किसी...

मुंबई की एक विशेष कोर्ट ने नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ करने के एक मामले में एक व्यक्ति को डेढ़ साल कैद की सजा सुनाई और साथ में कहा कि किसी भी लड़की को ‘‘आइटम’’ कहना आपत्तिजनक है। कोर्ट ने यह आदेश 20 अक्टूबर के दिन पारित किया था।

दोषी के खिलाफ नरमी बरतने से इनकार करते हुए कोर्ट ने कहा कि महिलाओं को इस तरीके के अवांछित व्यवहार से बचाने के लिए ऐसे ‘‘ सड़कछाप रोमियो’’ को सबक सिखाना बोहोत जरूरी है। यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण कानून (पॉक्सो) संबंधी मामलों की विशेष कोर्ट के न्यायाधीश ए. जे. अंसारी ने 16 साल की लड़की को ‘‘आइटम’’ बुलाने और उसके बाल खींचने के मामले में एक 25 वर्षीय

व्यक्ति को उसकी गरिमा भंग करने का दोषी पाया। यह वाकया 14 जुलाई, वर्ष 2015 में उपनगरीय मुंबई में लड़की के घर के पास हुआ था, जब लड़की स्कूल से लौट रही थी। लड़की की शिकायत के आधार पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया था, लेकिन बाद में आरोपी को जमानत मिल गई थी। न्यायाधीश ने कहा, ‘‘ आरोपी का जानबूझकर लड़की के बाल पकड़ना और बाल खींचना और लड़की को ‘‘आइटम’’ बुलाना साबित करता है कि शख्स ने लड़की की गरिमा भंग की।’’

कोर्ट ने कहा कि आरोपी का व्यवहार ‘‘पूरी तरह आपत्तिजनक’’ था।

आदेश में कहा गया, ‘‘ आरोपी युवक ने लड़की को ‘आइटम’ कहकर बुलाया, इस शब्द का इस्तेमाल लड़के आसानी से लड़कियों को अपमानजनक तरीके से संबोधित करने के लिए करते हैं…. और यह स्पष्ट तौर पर लड़की की गरिमा भंग करने के उसके इरादे को जाहिर करता है। इसके साथ ही ’’ न्यायाधीश ने कहा, ‘‘ किसी भी लड़की के लिए ‘आइटम’ शब्द बोलना या फिर इस्तेमाल करना स्वाभाविक रूप से अपमानजनक है।

’’ कोर्ट ने कहा कि आरोपी के प्रति नरमी नहीं बरती जा सकती क्योंकि यह मामला सड़क पर एक नाबालिग लड़की से बदसलूकी का है। कोर्ट ने कहा, ‘‘ ऐसे अपराधों से कठोरता से निपटा जाना चाहिए क्युकी ऐसे ‘सड़कछाप रोमियो’ को सबक सिखाया जा सके और इसके साथ ही महिलाओं को उनके अनुचित व्यवहार से भी बचाया जा सके।’’

Accherishtey
ये भी पढ़े: ये हैं देश की सबसे ज्यादा बिकने वाली सेडान कारें, कीमत सिर्फ 5.98 लाख

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button