ऑटोदेश

देश में अब हर जगह होगी एथेनॉल कारें! प्रदूषण 77% कम और फ्यूल 50% सस्ता

इस मॉडल को 29 अगस्त को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की उपस्थिति में ही एक कार्यक्रम में आधिकारिक तौर पर पूरी तरह से लॉन्च किया गया है

देश में अब कारें पूरी तरह से एथेनॉल से भी चल सकेगी। बता दें कि Toyota Motor द्वारा Flex-Fuel इंजन से लैस दुनिया की सबसे पहली पूरी तरह से इथेनॉल से चलने वाली कार को अब लॉन्च कर दिया है जहां पॉपुलर MPV Innova Highcross पर आधारित इस मॉडल को 29 अगस्त को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की उपस्थिति में ही एक कार्यक्रम में आधिकारिक तौर पर पूरी तरह से लॉन्च किया गया है।

वही दिलचस्प बात यह है कि इलेक्ट्रिफाइड फ्लेक्स-ईंधन Innova Highcross न ही केवल वैकल्पिक ईंधन पर चलता है, बल्कि उसी के साथ अपनी इलेक्ट्रिक पॉवर भी सीधा जनरेट कर सकता है और EV मोड में काम कर सकता है। बात करे तो Electrified Innova Highcross फ्लेक्स-ईंधन का यह प्रोटोटाइप अभी के लेटेस्ट एमिशन नॉर्म्स भारत स्टेज 6 (Stage 2) के अनुपालन में ही है।

इसी के चलते लॉन्च के मौके पर केंद्रीय मंत्री द्वारा इसके बारे मे बताया गया कि हम 16 लाख करोड़ का फॉसिल फ्यूल आयात कर रहे है जिससे कि 40% वाटर एयर पल्यूशन होता है और इथेनाल इकोनॉमी जब 2 लाख करोड़ की होगी तो उसके बाद किसानों की इकोनॉमी 12 लाख करोड़ से 20 लाख करोड़ की हो जायेगी। साथ ही एक दिन देश में ऐसा आएगा कि सभी जगह एथेनॉल से ही वाहन चलेंगे और पेट्रोल डीजल का आयात पूरी तरह बंद हो जायेगा।

कम हो सकता है पेट्रोलियम इंपोर्ट

हालाँकि देखा जाए तो सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री गडकरी द्वारा आगे ये भी बताया गया कि जैव ईंधन चमत्कार कर सकता है और देश में हो रहे सभी पेट्रोलियम इंपोर्ट पर हो रहे खर्च को भी पूरी तरीके से बचा सकता है। साथ ही गडकरी द्वारा यह भी बताया गया कि अगर हम आत्मनिर्भर बनना चाहते हैं तो उसके लिए हमें तेल इंपोर्ट को शून्य पर लाना होगा और वर्तमान में यह जैसे 16 लाख करोड़ रुपये है जो कि अर्थव्यवस्था के लिए काफी बड़ा नुकसान देखा जा सकता है।

प्रदूषण को घटाने पर बल दिया जाएगा

प्रदुषण भी एक बड़ा मुद्दा है जिसके लिए केंद्रीय मंत्री ने बताया कि प्रदूषण को कम करने पर भी जोर दिया जा रहा है जहां उन्होंने यह भी कहा कि भारत को प्रदूषण को कम करने के लिए अधिक टिकाऊ उपाय करने की जरूरत है और हर परिस्थितिथी में पर्यावरण बहुत महत्वपूर्ण साबित होता है और हमें वायु और जल प्रदूषण को कम करने की जरूरत है।

इतना ही नहीं उन्होंने यह भी जानकारी दी कि 65,000 करोड़ रुपये की अभी विभिन्न सड़क कि सभी परियोजनाएं इस साल के अंत तक अब पूरी होने की संभावना जताई जा रही है, जिसमें द्वारका एक्सप्रेसवे का भी निर्माण भी शामिल है और गडकरी के द्वारा यह उम्मीद भी जताई जा रही है कि राजमार्गों के निर्माण से लॉजिस्टिक लागत मौजूदा 14 से 16% से घटकर 9% हो जाएगी।

Accherishtey

ये भी पढ़े: अब दिल्ली में मिलेगा सबको को खुद का आशियाना, DDA ने जारी की 5000 फ्लैट की स्कीम

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button