देश

क्या इंडियन कफ सिरप था बच्चों की मौत का कारण? गांबिया सरकार का बयान

इस मामले में WHO यानी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इंडिया पर आरोप लगाते हुए इंडिया से मामले की जांच करने को कहा था पर भारत सरकार ने इस कदम का...

गांबिया की मेडिसन कंट्रोल एजेंसी का कहना है कि वह देश में कुल 70 बच्चों की रहस्यमय मौत की वजह अभी तक साफ नहीं कर सकी है। गांबिया में कुछ समय पहले बच्चों की मौत के कई मामले सामने आए थे और शक यह जताया जा रहा था कि ये मौतें इंडिया से आयात किए गए एक कफ सिरप पीने की वजह से हुई हैं।

लेकिन सोमवार को एजेंसी ने यह साफ किया कुल 70 बच्चों में से ज्यादातर बच्चे ऐसे थे जिन्होंने वह कफ सिरप पिया ही नहीं था और अब ये जांच की जा रही है कि बच्चों की मृत्यु कफ सिरप पिने से हुई थी या फिर किसी बैक्टीरिया का शिकार होने की वजह से। इस मामले में WHO यानी की विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इंडिया पर आरोप लगाते हुए इंडिया से मामले की जांच करने को कहा था लेकिन भारत सरकार (India Government) ने इस कदम का कड़ा विरोध किया था।

भारत सरकार ने कराई इसकी जांच

भारत सरकार ने इस जांच में पाया था कि वो कफ सिरप अमेरिका की एक कंपनी ने गांबिया में बेचने के लिए इंडिया की फार्मा कंपनी मेडन फार्मा से बनवाया था और ये कफ सिरप सिर्फ गांबिया के लिए ही बनाया गया। इसके साथ ही कफ सिरप का फ़ॉर्मूला भी अमेरिका से ही तय हुआ था। भारत में या फिर किसी अन्य देश में इस सिरप की बिलकुल खपत नहीं थी।

‘पहली जिम्मेदारी गांबिया देश की’

भारत सरकार के अनुसार ऐसे मामलों में पहली जिम्मेदारी गांबिया की बनती है कि किसी भी नई दवाई को वो टेस्ट करने के बाद ही इस्तेमाल करेगा। सब देश बाहर से मंगाई गई दवाओं के मामले में ऐसा ही करते है। अगर उस देश में ऐसा किसी तरह का सिस्टम ना हो तो इसमें WHO की ज़िम्मेदारी बनती है कि किसी देश में दवा को क्वालिटी चेक करने के बाद ही भेजा जाए।

इस मामले में ये दोनों में से कोई काम नहीं किए गए। बल्कि WHO ने अपनी रिपोर्ट में ये कहा कि इंडिया से आए सिरप के कुल 23 सैंपल चेक हुए थे जिसमें से कुल 4 में समस्या मिली। और इस पर भी भारत सरकार ने आपत्ति जताई थी। अब सवाल WHO पर ये उठ रहे हैं कि जब गांबिया देश में ही मौतों के कारण अब तक तय नहीं हो पाई तो कैसे इंडिया की फार्मा इंडस्ट्री को कटघरे में खड़ा कर दिया गया।

Accherishtey

ये भी पढ़े: रामायण के ‘लव’ को थाने में Reels बनाना पड़ा भारी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button