अपराधदेश

बड़ी उम्र के व्यक्ति से शादी करने से मना किया तो माँ ने ज़हर देकर बेटी का मारा

बेटी की शादी रुपये के बदले किसी बड़ी आयु के व्यक्ति से कराने से लिए लगातार दबाव बना रही थी। बेटी ने इनका विरोध भी किया। तो उसकी बेटी को जहर..

पीड़ित ने ये आरोप लगाया है कि सास मेरी पत्नी व साले संदीप के साथ मिलकर उसकी बेटी की शादी रुपये के बदले किसी बड़ी आयु के व्यक्ति से कराने से लिए लगातार दबाव बना रही थी। बेटी दबाव के बावजूद भी उनकी बातों में नहीं आई और उसने इनका विरोध भी किया। इसीलिए उसकी सास, साले और पत्नी ने जबरदस्ती उसकी बेटी को जहर पिला दिया।

बता दें रोहतक के सांपला थाने के गांव बलियाना में यहाँ एक युवती को जहर देकर मारने का एक मामला सामने आया है। लड़की के पिता ने पत्नी, सास और साले के खिलाफ अपनी बेटी को मारने का आरोप लगाते हुए ये केस दर्ज कराया है। सहायक पुलिस अधीक्षक सांपला को दी शिकायत में लाखनमाजरा निवासी अशोक के अनुसार उसकी बेटी को जबरन जहर देकर मारा गया है। और इसमें इसकी सास बेदो, साला संदीप कुमार और पत्नी सुशीला भी शामिल हैं।

उसने बताया कि वर्ष 2004 में सुशीला से शादी के बाद उसको दो बेटियों व एक बेटे का जन्म हुआ। बड़ी वाली बेटी खुशी 17 साल की है। और छोटी वाली बेटी 15 साल व सबसे छोटा बेटा 12 साल का दीपक है। उसकी पत्नी सुशीला करीब 6 साल पहले ही अशोक को छोड़ कर अपने बच्चों के साथ मायके चली गई थी। और उसने कभी भी बच्चों से बात तक नहीं करने दी।

बता दें घरेलू हिंसा व खर्चे का मुकदमा भी दर्ज कर दिया गया है और इसके चलते 7,000 रुपये की राशि भी तय हुई। और यह राशि हर महीने उसको उसकी पत्नी सुशीला को ही देनी होती है। और अब यह बढ़ कर 9000 रुपये तक हो गई है। अब यह खर्चा हर महीने सुशीला को ही दिया जाता है।

उसने ये आरोप लगाया है कि मेरी सास, मेरी पत्नी, व साले संदीप इन सबने मिलकर उसकी बेटी की शादी रुपये के बदले किसी बड़ी आयु के व्यक्ति से कराने से लिए लगातार दबाव बना रही थी। साथ ही बेटी दबाव के बावजूद भी उनकी बातों में कभी नहीं आई और इसके बाद इसने इनका विरोध करना शुरू कर दिया। इसलिए इसके बाद सास, साले व पत्नी ने जबरदस्ती उसकी बेटी को जहर पिला दिया।

उसकी हालत बिगड़ने पर उसे 8 नवंबर को दिल्ली बाईपास स्थित एक निजी अस्पताल में दाखिल कराया था। जब डाक्टरों ने पिता के बारे में पूँछा तो पिता को मृत बताकर बेटी का उपचार कराना शुरू कर दिया। और उपचार के दौरान उसकी वही मृत्यु हो गई। और इसके बाद उसके शव का अंतिम संस्कार करने का भी प्रयास किया। इसकी सूचना मिलने पर उसके पिता पंचायत के साथ वही मौके पर पहुंचा। और वहां से अपनी बेटी काफी का शव लेकर पीजीआईएमएस में आया।

यहां पर उसका पोस्टमार्टम करा कर उसके शव का लाखनमाजरा में अच्छे से अन्तिम संस्कार कराया गया। और उसने बोला मेरी बेटी खुशी और बेटे दीपक की भी जान को भी खतरा है। मुझे भी बार-2 जान से मारने की लगातार धमकी दी जा रही है। साथ ही इनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई भी की जाए। बता दें एसआई सुखबीर का ये कहना है कि केस दर्ज कर लिया गया है। इस मामले की जांच के बाद ही कोई कार्रवाई की जाएगी।

Madhavgarh Farmsये भी पढ़े: सालभर की दोस्ती एकतरफा प्यार में बदली, निकाह के लिए प्रेमी के घर पहुंची लड़की

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button