Late pregnancy: 30 की उम्र में कर रहे हैं मां बनने की तैयारी तो इन बातो का रखें ख्याल

कुछ महिलाएं 30 की उम्र के बाद प्रेग्नेंसी प्लैन करती है. लेकिन 30 के बाद प्रेग्नेंट होने और बच्चे को जन्म देने में कई तरह की मुश्किलें आती है

आज के दौर में कई कारणों से महिलाएं 30 की उम्र के बाद प्रेग्नेंसी प्लैन करती है. लेकिन 30 के बाद प्रेग्नेंट होने और बच्चे को जन्म देने में कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ता है.

वहीं इस उम्र में मिसकैरिज की संभावना भी बढ़ जाती है. हालांकि मां बनने के लिए कोई उम्र सीमा तय नही होती और यदी आप कुछ बातो का ध्यान रखते है तो आप प्रेग्नेंसी को सफल बना सकते है.

आजकल ज़्यादातर महिलाएं लगभग 30 की उम्र तक मां बनने के बारे में सोचती है. इसके पीछे लेट शादी करना और आर्थिक स्थिरता जैसी वजहें शामिल हो सकती है.

किस उम्र में मां बनना है ये हर महिला का निजी फैसला होता है और उसके लिए कोई खास नियम भी नहीं है. बता दें हेल्थ एक्सपर्टस के मुताबिक, जो महिलाएं 35 साल की उम्र के बाद प्रेग्नेंसी प्लैन करती है उन्हे कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

वहीं इसका असर फर्टिलिटी रेट पर भी पड़ता है. इसके अलावा मिसकैरिज, प्लेसेंटा प्रीविया में दिक्कत हो सकती है, साथ ही समय से पहले डिलीवरी और डाउन सिंड्रोम जैसी प्रोबलम्स की संभावना भी बढ़ जाती है. जो महिलाएं 30 के बाद मां बनने का सोच रही है उन्हे कुछ बातो का ख्याल रखना चाहिए.

पार्टनर की आयु भी है महत्वपूर्ण – गर्भ धारण करने के लिए जितनी महत्वपूर्ण आपकी उम्र होती है उतनी ही आपके पार्टनर की भी उम्र महत्वपूर्ण होती है. मर्दो की प्रजनन क्षमता भी उम्र के साथ कम हो जाती है. लेकिन महिलाओं की तुलना मे ये दर काफी कम है.

डॉक्टर से सलाह लें – यदी आप और आपके पार्टनर दोनों 30 की उम्र के है और कुछ महीनों के लगातार प्रयास के बाद भी आप कंसीव नहीं कर पा रही तो डॉक्टर से मदद लेने में किसी प्रकार का संकोच न करें. बल्कि अच्छा होगा कि आप बेबी प्लान करने से पहले ही अपनी फर्टिलिटी स्क्रीनिंग कराते रहें ताकि कोई परेशानी हो, तो वो शुरूआत में पता चल जाएं और उसका उपचार किया जा सकें.

हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं – केवल प्रेग्नेंसी में ही नहीं बल्कि रोज़मर्रा की जिन्दगी में भी हमे हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाना चाहिए लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान आपको अपनी डाइट और सेहत का अधिक ध्यान रखना होता है. इसके लिए आप न्यूट्रिशनिस्ट की भी मदद ले सकते हैं. साथ ही नियमित रूप से व्यायाम करें और पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लें.

ये भी पढ़े : …तो इस काम के लिए होता है लड़को के अंडरवियर में छेद

 

Exit mobile version