ट्रेंडिंगलाइफस्टाइल

पीठ और कमर दर्द में इन फूड्स के सेवन से बचें, नहीं तो बढ़ सकती है परेशानी

दिनभर की भागदौड़ हमें थका देती है, पूरे दिन ऑफिस में बैठकर काम करने से लोगों में पीठ दर्द और कमर दर्द की समस्या काफी आम हो चुकी है.

आज के दौर में हमारा लाइफस्टाइल काफी स्ट्रेसफुल रहता है, दिनभर की भागदौड़ हमें थका देती है, पूरे दिन ऑफिस में बैठकर काम करने से लोगों में पीठ दर्द और कमर दर्द की समस्या काफी आम हो चुकी है.

आपने कई लोगों को कहते सुना होगा कि अगर व्यक्ति अच्छे भोजन को ग्रहण करे, तो उन्हें ऐसी परेशानियां नही होती हैं. इसलिए ये जरूरी है कि हम अपनी डाइट में कुछ ऐसे आहार (खाना) शामिल करें जिससे हमारी सेहत को फायदा पहुंचे.

हालांकि इसके साथ आपको एक बात का ध्यान रखना भी जरूरी है कि कुछ ऐसे फूड्स भी होते है जिन्हें खाने से आपकी परेशानी भी बढ़ सकती है इसलिए आपको ऐसे खाने से दूर रहना चाहिए. वहीं अगर आप उन लोगों में शामिल हैं जिन्हें बैक पेन की समस्या है तो आपको कुछ फूड्स को Avoid करना चाहिए.

lifestyle news

जिन लोगों को भी पीठ और कमर में दर्द की समस्या है उन्हें प्रोसेस्ड फूड्स से दूर रहना चाहिए. ऐसे लोगों को अपने आहार में साबूत अनाज को शामिल करना चाहिए. बता दें कि पिज्जा , ग्रेन और सफेद ब्रेड में अधिक मात्रा में प्रोसेस्ड ग्रेन का इस्तेमाल किया जाता है, इस तरह के फूड्स इंसुलिन के बढ़ने की वजह बन सकते है औऱ आपके पीठ और कमर दर्द को बढ़ा सकते हैं

lifestyle news

अगर आप बैक पेन की समस्या से ग्रसित हैं तो आपको हाई शुगर वाली चीज़ों के इस्तेमाल से बचना चाहिए. मीठी चीजों के सेवन से वजन तो बढ़ता ही है इसके साथ-साथ सूजन भी बढ़ती है. बढ़ते वजन की वजह से भी पीठ दर्द और कमर दर्द की समस्या बढ़ सकती है. इससे बचने का प्रयास करें.

lifestyle news

अब शायद जो बात हम आपको बताने जा रहे हैं वो आपको अजीब लग सकती है लेकिन बैकपेन की समस्या में आपको दूध और डेयरी प्रोडक्ट से परहेज करना चाहिए. डेयरी प्रोडक्ट के सेवन से सूजन हो सकती है, साथ ही जो लोग लैक्टोज इंटोलरेंट है उन्हें डेयरी उत्पाद पचाने में भी दिक्कत होती है.

lifestyle news

जानकारी के अनुसार रिफाइंड ऑइल खाना इंफ्लेमेशन और दिल की बीमारी की वजह बन सकता है. आप इस बात का ख्याल रखें कि खाना पकाने में इस तेल का इस्तेमाल न करें. इसकी जगह आप जैतून के तेल का इस्तेमाल कर सकते है वह सेहत के लिए काफी अच्छा माना जाता है, क्योंकि इसमें मोनोअनसैचुरेटेट फैट मौजूद होते है.

lifestyle news

वैसे तो रेड मीट प्रोटीन का एक बेहतरीन सोर्स है इसमें कोई शक नही है लेकिन अगर आपको बैक पेन की दिक्कत है तो इसके सेवन से परहेज करें. क्योंकि रेड मीट में neu5gc नामक एक तत्व पाया जाता है जो कि इंफ्लेमेशन को बढ़ाने का काम करता है

नोट: यहां लिखी खबर सामान्य जानकारी पर आधारित है, हम इसकी पुष्टी नहीं करते हैं 

Accherishtey

ये भी पढ़ें: कॉफी में इन चीजों को मिलाकर लगाने से हटती है हाथों की टैनिंग

Afreen Khan

आफरीन खान तेज़ तर्रार न्यूज़ में बतौर पत्रकार काम कर रही है और इनका मानना है कि पत्रकारिता की एक खासियत है कि वह कभी खामोश नहीं रहती ।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button