लाइफस्टाइल

Herbal Kadhas: ठंड में हो गए हैं फ्लू का शिकार, तो जल्द राहत दिलाएंगे ये काढ़े

सर्दी के मौसम में रोग प्रतिरोधक्षमता को बढ़ाने और सर्दी-जुकाम, खांसी जैसी समस्याओं का सामना करने के लिए आयुर्वेद में कई प्राकृतिक

सर्दी के मौसम में रोग प्रतिरोधक्षमता को बढ़ाने और सर्दी-जुकाम, खांसी जैसी समस्याओं का सामना करने के लिए आयुर्वेद में कई प्राकृतिक औषधियों की सिफारिश की जाती है। इनमें से एक प्रमुख औषधि है हर्बल काढ़ा, जो विभिन्न जड़ी-बूटियों और उच्चतमत्ता के चयन से बनाया जाता है। ये 5 हर्बल काढ़े सर्दी और फ्लू के लिए लाभकारी हो सकते हैं:

1. तुलसी काढ़ा:
तुलसी काढ़ा एक अद्भुत रोगनाशक है जो सर्दी, जुकाम, और खांसी से निपटने में मदद कर सकता है। तुलसी की पत्तियों में एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं जो इम्यून सिस्टम को मजबूती प्रदान कर सकते हैं।

2. अदरक-लहसुन काढ़ा:
अदरक और लहसुन सर्दी-खांसी में राहत प्रदान करने में सहायक हो सकते हैं। अदरक का उपयोग श्वासमंश, गले में सूजन, और खांसी के लिए किया जा सकता है, जबकि लहसुन वायरसों और बैक्टीरिया के खिलाफ लड़ने में सक्षम होता है।

3. शहद-लेमन काढ़ा:
शहद और लेमन का मिश्रण गर्म पीने से सर्दी और खांसी में आराम प्रदान कर सकता है। शहद के एंटीबैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में सहायक हो सकते हैं।

4. मुलेठी काढ़ा:
मुलेठी का काढ़ा गले की खराश और खांसी में राहत प्रदान कर सकता है। इसमें मौजूद ग्लाइसाइराइजेड फ्लेवनॉयड्स गले को सुकून पहुंचाने में मदद कर सकते हैं।

5. आंवला काढ़ा:
आंवला विटामिन सी का एक उत्कृष्ट स्रोत है और इसमें विशेष रूप से इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में मदद करने वाले गुण होते हैं। आंवला के काढ़े को पीने से शरीर की रोग प्रतिरोधक्षमता में वृद्धि हो सकती है।

ये हर्बल काढ़े सर्दी और फ्लू के लिए सामग्रीयों का एक अच्छा स्रोत हो सकते हैं, लेकिन यदि किसी को गंभीर बीमारी है, तो उन्हें चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।Accherishtey
यह भी पढ़ें: दिल्ली के इंद्रप्रस्थ मेट्रो स्टेशन के पास दो गाड़ियों में टक्कर, 2 की मौत, 2 घायल

Related Articles

Back to top button