लाइफस्टाइल

माँ-बेटी का रिश्ता: जानिए महत्व और सुधारने के उपाय

माँ-बेटी का रिश्ता: यूं तो माँ और बेटी का रिश्ता बहुत ही प्यारा और गहरा होता है. हर लड़की के लिए उसकी पहली रोल मॉडल और सब कुछ उसकी माँ ही होती है

यूं तो माँ और बेटी का रिश्ता बहुत ही प्यारा और गहरा होता है. हर लड़की के लिए उसकी पहली रोल मॉडल और सब कुछ उसकी माँ ही होती है. समय के साथ- साथ माँ और बेटी का रिश्ता भी बदलता रहता है, लेकिन उन दोनों के बीच प्यार हमेशा एक जैसा ही रहता है..

लेकिन जैसे-जैसे वक्त का पहिया घूमता चला जाता है बैसे-वैसे हर रिश्ते में खटास भी आ जाती है. ऐसा मां बेटी के प्यारे से रिश्ते के बीच में भी होता है… जिससे माँ और बेटी दोनों पर ही बुरा असर पड़ता है. ऐसें में अपने रिश्ते को फिर से निखारने के लिए माँ बेटी को एक दूसरे को समझना बेहद जरूरी है.. यूं तो एक माँ अपनी बेटी को हर तरह से सपोर्ट करती है, बेटियां कितनी भी बड़ी हो जायें, लेकिन माँ के लिए हमेशा उनकी बेटी छोटी ही रहती है..

माँ-बेटी का रिश्ता इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

mother daughter

माँ-बेटी के रिश्ते को सबसे पाक औऱ प्यारा रिश्ता माना जाता है. जो एक ऐसा रिश्ता है जो हर एक औरत को अपने जीवन में हर दूसरे रिश्ते को बनाने में मदद करता है और यह हर औरत के लिए बहुत अहम रिश्ता है……

यह एक ऐसा रिश्ता है जो कई तरह से बदलाव भी लाता है, क्योंकि जैसे -जैसे समय बीतता रहता है वैसे ही मुश्किल मोड़ आते है. लेकिन एक माँ हमेशा अपनी बेटी को हर एक मुश्किल से प्रोटेक्ट करती है और उसे उस मुश्किल से लड़ना सिखाती है.

अस्वस्थ माँ-बेटी के रिश्ते के प्रकार:

हालाँकि माँ और बेटी के बीच का रिश्ता बहुत मजबूत होता है, लेकिन यह एक चुनौतीपूर्ण भी हो सकता है. यदि इसमें सुधार के लिए कोई प्रयास नहीं किया जाता है, तो यह अस्वस्थ हो सकता है. आइए कुछ इस प्रकार के अस्वस्थ माँ-बेटी संबंधों को जानते हैं…

mother daughter
नियंत्रण संबंध (Controlling Relationship):

कुछ लोगों को यह लगता है की कण्ट्रोल करना एक सामान्य व्यवहार है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं है. ये एक लड़की से उसकी जीने के तरीके को छीन लेता है, इस वजह से वह अपनी मर्जी से नहीं जी पाती. वह अपनी इच्छाओं और जुनून को कम कर देता है….
वैसे तो कण्ट्रोल करने के भी बहुत सारे तरीके होते है, कुछ गुस्से से, कुछ इमोशनल ब्लैकमेल करके. ऐसे में एक बेटी अपनी मां को खुश करने और उसकी आजादी पाने के लिए सब कुछ करती है…

mother daughter

यारी दोस्त (Bosom buddies):

माँ और बेटी द्वारा हर बात को शेयर किए जाने वाले सामान्य प्रकार के रिश्तों में से एक उलझा हुआ रिश्ता भी कहा जाता है. रिश्ता प्यारा है, क्योंकि एक बेटी अपनी मां को सबसे अच्छी दोस्त मानती है. वे दोनों अपनी रुचियों, भावनाओं और कई अन्य चीजों को एक दूसरे से बांटा करती है……

Aadhya technology

यह भी पढ़े: एक्ट्रेस श्वेता तिवारी की बिगड़ी तबीयत, अस्पताल में कराना पड़ा भर्ती

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button