लाइफस्टाइल

जींस में क्यों होती है छोटी पॉकेट? वजह कर देगी हैरान

फैशन हमेशा से ही समय के साथ बदलता आ रहा है। पहले लोगों को चोड़ी मोहरी वाली पैंट पसंद थी। वहीं अब लोगों को पतली मोहरी वाली पैंट पसंद आने लगी है

फैशन हमेशा से ही समय के साथ बदलता आ रहा है। पहले लोगों को चोड़ी मोहरी वाली पैंट पसंद थी। वहीं अब लोगों को पतली मोहरी वाली पैंट पसंद आने लगी है।

इसी के साथ बीते समय में शर्ट के भी कई अलग तरह के फैशन सामने आए है। लाकिन इन सब में बस एक चीज़ जो आउट ऑफ फैशन नहीं हुई, वो है जींस।

अब ऐसें में साधारण सी दिखने वाली जींस का इतिहास काफी इंटरेस्टिंग है। जींस में छोटी पॉकेट क्यों होती है? जींस से जुड़े ऐसे कई सवाल है। जिनपर आपने कभी गौर तक नहीं किया होगा।

आपकों बता दे कि जिस पैंट को अब आज जींस कहते है उसका पुराना नाम Waist Overalls है। जानकारी के अनुसार, जींस का अविष्कार लातविया के जैकब डेविस ने तब किया था जब वह सोना ढूढंने के लिए अमेरिका गए।

वहां उन्हें सोना तो नहीं मिला लेकिन मोटे कपड़े की खान से पैंट बनाने का सोचा। बता दें कि जैकब ने यह कपड़ा किसी लेवी स्ट्रॉस से खरीदा और उसकी जींस बनाई।

जैकब द्वारा बनाई गई इस जींस को काफी पॉपुलैरिटी मिली। बतातें चले कि जींस के आविष्कार के लगभग 70 साल बाद तब नयापन आया जब उसे अमेरिका के यंगस्टर्स ने पहना शुरू किया। धीरे- धीरे जींस हर वार्डरोब का हिस्सा बन गई। 

इसी के साथ, जींस की छोटी पॉकेट को वॉच पॉकेट भी कहां जाता है। दरअसल, यह पॉकेट मूल रूप से पुरूषों के लिए घड़ी रखने के लिए बनाई गई थी। ऐसें में इस छोटी पॉकेट को कई नामों से जाना गया। जैसे: फ्रंटियर पॉकेट, कॉइन पॉकेट, मैच पॉकेट और टिकट पॉकेट।

Hair Crown Salon

ये भी पढ़े: कम उम्र में बाल सफेद होने से हैं परेशान? अपनाएं ये नुसके

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button