राजनीति

Chiraag Paswan: बिहार में ’90 के दशक का जंगलराज’ फिर से वापस

चिराग पासवान ने तेजस्वी यादव को याद दिलाया कि जनता को भरोसा दिलाने की जिम्मेदारी उनके कंधों पर है।

चिराग पासवान ने हाल ही में तेजस्वी यादव को नसीहत देते हुए कहा कि बिहार में ’90 के दशक का जंगलराज’ फिर से वापस नहीं आना चाहिए। उन्होंने यह बयान राज्य में कानून व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति और हाल ही में हुई अपराधों की घटनाओं के संदर्भ में दिया। चिराग ने कहा कि जनता ने विकास और शांति की उम्मीद में मौजूदा सरकार को चुना है, न कि उस समय की स्थिति में लौटने के लिए जब राज्य में जंगलराज का दौर था।

चिराग पासवान ने तेजस्वी यादव को याद दिलाया कि जनता को भरोसा दिलाने की जिम्मेदारी उनके कंधों पर है। उन्होंने तेजस्वी से आग्रह किया कि वे अपने पिता लालू प्रसाद यादव के शासनकाल से सबक लें और बिहार को उस समय की अराजकता में न ढकेलें। चिराग ने कहा कि विकास और शांति के लिए जनता ने वोट दिया है और सरकार का यह दायित्व है कि वह उनकी अपेक्षाओं पर खरी उतरे।

चिराग पासवान ने कहा कि बिहार की जनता ने बहुत संघर्ष और कष्ट झेले हैं और अब वे किसी भी कीमत पर पीछे नहीं जाना चाहते। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार को कानून व्यवस्था की स्थिति में सुधार लाना चाहिए और अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। चिराग ने कहा कि तेजस्वी यादव को अपनी जिम्मेदारियों को समझना चाहिए और अपने कार्यों से साबित करना चाहिए कि वे वाकई में राज्य के विकास और जनता के हित में कार्य कर रहे हैं।

इस बयान से यह स्पष्ट होता है कि चिराग पासवान बिहार में जंगलराज की वापसी को लेकर गंभीर हैं और वे चाहते हैं कि तेजस्वी यादव अपनी सरकार के कार्यों पर ध्यान दें ताकि राज्य में शांति और विकास कायम रह सके।

Related Articles

Back to top button