राजनीति

NEET paper leak: विपक्ष ने मोदी सरकार को निशाने पर लिया

सरकार शिक्षा के क्षेत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार और असुरक्षा को नियंत्रित करने में पूरी तरह विफल रही है।

राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) के पेपर लीक होने के मुद्दे पर विपक्ष ने मोदी सरकार को निशाने पर लिया है। इस घटना ने शिक्षा प्रणाली की सुरक्षा और अखंडता पर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि सरकार शिक्षा के क्षेत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार और असुरक्षा को नियंत्रित करने में पूरी तरह विफल रही है।

राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ नारे के बावजूद, छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। उन्होंने कहा कि परीक्षा पेपर का लीक होना सरकार की अक्षमता और भ्रष्टाचार का स्पष्ट उदाहरण है। यह केवल छात्रों और उनके परिवारों के सपनों को ध्वस्त नहीं करता, बल्कि पूरे शिक्षा तंत्र की विश्वसनीयता को भी नुकसान पहुंचाता है।

विपक्षी दलों ने भी इस मामले को संसद में उठाने का निर्णय लिया है। उन्होंने मांग की है कि सरकार इस मामले की स्वतंत्र जांच कराए और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे। विपक्ष का कहना है कि जब तक इस मुद्दे की गहन जांच नहीं होती और दोषियों को दंडित नहीं किया जाता, तब तक छात्रों और अभिभावकों का विश्वास बहाल नहीं हो सकता।

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी से सीधे सवाल करते हुए पूछा कि आखिरकार, सरकार इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए क्या कदम उठा रही है? उन्होंने कहा कि बार-बार इस तरह की घटनाओं के होने से यह स्पष्ट हो जाता है कि सरकार के पास इस तरह के अपराधों को रोकने की कोई ठोस नीति नहीं है।

विपक्ष ने कहा कि शिक्षा किसी भी देश का आधार होती है, और अगर इस तरह की घटनाएं होती रहीं, तो देश का भविष्य अंधकारमय हो जाएगा। उन्होंने यह भी मांग की कि सरकार छात्रों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए त्वरित और प्रभावी कदम उठाए।

Related Articles

Back to top button