राजनीति

Vidhansabha Election Results: आखिर कल किसके सर सजेगा ताज?

रविवार को चार राज्यों के 635 सीटों पर ही वोटों की होगी गिनती, 4 दिसंबर को मिजोरम के उम्मीदवारों का फैसला

मध्य प्रदेश में वोटिंग के बाद से ही जनता की नजरें नतीजों पर टिकी हुई हैं। 17 नवंबर को मध्य प्रदेश की 230 सीटों पर वोटिंग हुई थी। कमलनाथ या शिवराज सिंह चौहान, कौन जीतेगा, यह चर्चा में है। विधानसभा चुनाव 2023 में रिकॉर्ड 76.22 प्रतिशत मतदान हुआ। मल्हारगढ़, जावद, जावरा, शाजापुर, आगर मालवा, शुजालपुर, कालापीपल और सोनकच्छ में 85 फीसदी से अधिक वोटिंग हुई।

 

एग्जिट पोल्स का नतीजा दिखा रहा है कि मध्य प्रदेश में सशक्त प्रतिस्पर्धा है। कांग्रेस और बीजेपी के बीच तीखी टक्कर है। 2018 के चुनाव में कांग्रेस को बड़ी जीत मिली थी, लेकिन उसके बाद सत्ता बदली थी। इस बार भी सशक्त प्रतिस्पर्धा की संकेत मिल रहे हैं। बीजेपी को मालवा और निमाड़ में फायदा हो सकता है।

 

राजस्थान में भी चुनावी उत्साह है। एग्जिट पोल्स दिखा रहे हैं कि बीजेपी आगे है। चाणक्य, सीएनएक्स, और अन्य एजेंसियां भी बीजेपी के फायदे की संभावना दर्शा रही हैं। कांग्रेस को भी बहुमत की उम्मीद है, लेकिन जीत बाजी में बीजेपी की बढ़त जगाई जा रही है।

 

छत्तीसगढ़ में भी सशक्त प्रतिस्पर्धा का माहौल है। कांग्रेस और बीजेपी के बीच मुकाबला है। वोटिंग के बाद का एग्जिट पोल बीजेपी की बढ़त दर्शा रहा है, लेकिन सीएम भूपेश बघेल भी अपनी सरकार को लेकर आत्मविश्वासी हैं।

 

चुनावी माहौल बदल रहा है, जनता का फैसला बाद में होगा। यहाँ तक कि विधानसभा के वेतनभोगी प्रत्याशी भी नतीजों का इंतजार कर रहे हैं।

 

मध्य प्रदेश में वोटिंग के बाद, नतीजों के बारे में चर्चा है। 17 नवंबर को 230 सीटों पर हुई वोटिंग ने जनता की रुझानों को उजागर किया। कमलनाथ या शिवराज सिंह चौहान, कौन होगा विजेता, यह देखने को है।

 

एग्जिट पोल्स बता रहे हैं कि मध्य प्रदेश में कठिन प्रतिस्पर्धा है। कांग्रेस और बीजेपी के बीच टक्कर जारी है।

 

राजस्थान में भी उत्साह है। एग्जिट पोल्स बीजेपी के फायदे की भविष्यवाणी कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ में भी चुनावी उत्साह है। बीजेपी और कांग्रेस के बीच मुकाबला है।

चुनावी माहौल बदल रहा है, नतीजों का इंतजार है। विधानसभा के प्रत्याशी भी नतीजों की दिशा में उत्सुक हैं।

 

तेलंगाना विधानसभा चुनाव में इस बार मुकाबले की उम्मीद है। लोगों की नजरें के. चंद्रशेखर राव पर टिकी हैं, जहां वह हैट्रिक की उम्मीद कर रहे हैं। ओपिनियन पोल्स और एग्जिट पोल्स में कांग्रेस पहली बार बीआरएस के कड़ी टक्कर में टक्कर में नजर आ रही है।

 

Accherishtey

Related Articles

Back to top button