धर्म

Aaj Ka Hindu Panchang 31 March: गुरुवार के दिन करें धार्मिक पुस्तक का दान

Aaj Ka Hindu Panchang 31 March: राहुकाल और शुभमुहूर्त के साथ जानें कैसे लगेगा कार्यस्थल पर मन और उन्नतिकारक कुंजियाँ

दिनांक – 31 मार्च 2022

दिन – गुरुवार

विक्रम संवत – 2078

शक संवत – 1943

अयन – उत्तरायण

ऋतु – वसंत

मास – चैत्र

पक्ष – कृष्ण

तिथि – चतुर्दशी दोपहर 12:22 तक तपश्चात अमावस्या

नक्षत्र – पूर्व भाद्रपद सुबह 10:31 तक तपश्चात उत्तर भाद्रपद

योग – शुक्ल सुबह 11:18 तक तत्पश्चात ब्रह्म

राहुकाल – अपरान्ह 2:17 से 03:49 तक

सूर्योदय – 06:33

सूर्यास्त – 06:55

दिशाशूल – दक्षिण दिशा में

विजय मुहूर्त – अपरान्ह 2:48 से 3:37 तक

गोधूलि मुहूर्त – शाम 6:42 से 7:06 तक

सायह्न सन्ध्या – शाम 6:55 से रात्रि 8:04 तक

ब्रह्म मुहूर्त– सुबह 05:00 से 05:48 तक

निशिता मुहूर्त – रात्रि 12.20 से 01:07 तक

व्रत पर्व विवरण -चतुर्दशी, अमावस्या मार्च 31& 1अप्रैल

(31 मार्च 2022 गुरुवार को दोपहर 12:23 से 01 अप्रैल, शुक्रवार को सुबह 11:53 तक अमावस्या है।)

अमावस्या के दिन ध्यान रखने की बात

1.जो व्यक्ति अमावस्या को दूसरे का अन्न खाता है उसका महिने भर का पुण्य उस अन्न के स्वामी/दाता को मिल जाता है।
(स्कन्द पुराण, प्रभाव खं. 207.11.13)

2.अमावस्या के दिन पेड़-पौधों से फूल-पत्ते, तिनके आदि नहीं तोड़ने चाहिए, इससे ” ब्रम्ह हत्या ” का पाप लगता है ! -विष्णु पुराण

3अमावस्या के दिन तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।
(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)

4.ज़मीन है अपनी… खेती काम करते हैं तो अमावस्या के दिन खेती का काम न करें …. न मजदूर से करवाएं |

5. जप करें भगवत गीता का ७ वां अध्याय अमावस्या को पढ़ें …और उस पाठ का पुण्य अपने पितृ को अर्पण करें … सूर्य को अर्घ्य दें… और प्रार्थना करें ” आज जो मैंने पाठ किया …अमावस्या के दिन उसका पुण्य मेरे घर में जो गुजर गए हैं …उनको उसका पुण्य मिल जाये | ” तो उनका आर्शीवाद हमें मिलेगा और घर में सुख-सम्पति बढ़ेगी |

6.कर्जा हो गया है तो अमावस्या के दूसरे दिन से पूनम तक रोज रात को चन्द्रमा को अर्घ्य दे, समृद्धि बढेगी ।

दीक्षा में जो मन्त्र मिला है उसका खूब श्रध्दा से जप करना शुरू करें , जो भी समस्या है हल हो जायेगी ।
– श्री सुरेशनंदजी -12th April 08,Sagar(M.P.)

नकारात्मक ऊर्जा मिटाने के लिए

घर में हर अमावस्या अथवा हर १५ दिन में पानी में खड़ा नमक (१ लीटर पानी में ५० ग्राम खड़ा नमक) डालकर पोछा लगायें । इससे नेगेटिव एनेर्जी चली जाएगी । अथवा खड़ा नमक के स्थान पर गौझरण अर्क भी डाल सकते हैं ।

Hair Crown

 

यह भी पढ़े: New Year 2022: नए साल से पहले रखें अपने पर्स में ये ख़ास चीज, नहीं होगी पैसों की कमी

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button