धर्म

Aaj Ka Panchang 15 July: भद्रा का साया, जानें तिथि मुहूर्त और शुभ योग

Aaj Ka Panchang 15 July: राहुकाल और शुभमुहूर्त के साथ जानें कैसे लगेगा कार्यस्थल पर मन और उन्नतिकारक कुंजियाँ

दिनांक – 15 जुलाई 2022

दिन – शुक्रवार

विक्रम संवत – 2079

शक संवत – 1944

अयन – दक्षिणायन

ऋतु – वर्षा

मास – श्रावण (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार षाढ़)*

पक्ष – कृष्ण

तिथि – द्वितीया शाम 04:39 तक तत्पश्चात तृतीया

नक्षत्र – श्रवण शाम 05:31 तक तत्पश्चात धनिष्ठा

योग – प्रीति रात्रि 12:21 तक तत्पश्चात आयुष्मान

राहु काल – सुबह 11:05 से दोपहर 12:46 तक

सूर्योदय – 06:03

सूर्यास्त – 07:28

दिशा शूल – पश्चिम दिशा में

ब्रह्म मुहूर्त – प्रातः 04:38 से 05:21 तक

निशिता मुहूर्त – रात्रि 12:25 से 01:07 तक

व्रत पर्व विवरण –

विशेष – द्वितीया को बृहती (छोटा बैंगन या कटेहरी) खाना निषिद्ध है ।
(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

दिशा विवेक

पूजा आरती पश्चिम में है तो खुशियाँ दबेंगी । दक्षिण में है तो बिमारी आयेगी ।

तुम्हारी पूजा की दिशा पूर्व या उत्तर में हो तो स्थिति उन्नत होगी ।

पूजा की दिशा उत्तर में है तो अध्यात्मिक उन्नति होगी, पूर्व में है तो लौकिक उन्नति होगी ।

गुरूमंत्र है तो दोनों में आध्यात्मिक और लौकिक उन्नति होगी ।
तो देख लेना की आरती की दिशा, पूजा करते तो आपकी दिशा पश्चिम की तरफ तो नहीं, होगी तो बदल देना । सत्संग से कैसा ज्ञान मिलता है ।

सोते समय पश्चिम में सिर रहेगा तो चिंता पीछा नहीं छोड़ेगी, उत्तर में सिर करते हैं तो बिमारी पीछ नहीं छोड़ेगी । सोते समय सिरहाना पूरब की तरफ अथवा दक्षिण की तरफ हो ।

विद्यार्थी कमजोर हो तो..

जो बच्चे पढ़ने में कमजोर रहते हो न, वे बच्चे, कच्चा दूध हो उसमें मिश्री पाऊडर मिला दें, या शहद मिला दें, अच्छी तरह से घोल दें । उस से, बच्चे जाकर शिवलिंग पर अभिषेक करें, वो शिवजी पर चढ़ाएं, फिर जल चढ़ाएँ, बेल-पत्र रख दें, दिया जला दें । थोड़ी देर उधर बैठ के जप करें । तो वो बच्चे पढ़ने में बड़े होशियार, प्रतिभावान होंगे ।
Insta loan services

यह भी पढ़े: लोगों को मिली बड़ी सौगात, द्वारका के एक स्टेशन से दिल्ली का सफर सिर्फ 30 मिनट में

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button