धर्म

Aaj Ka Panchang 25 February: शुक्रवार को बंगलामुखी अनुष्ठान प्रारंभ करने का शुभ समय

Aaj Ka Panchang 25 February: राहुकाल और शुभमुहूर्त के साथ जानें कैसे लगेगा कार्यस्थल पर मन और उन्नतिकारक कुंजियाँ

दिनांक – 25 फरवरी 2022

दिन – शुक्रवार

विक्रम संवत – 2078

शक संवत -1943

अयन – उत्तरायण

ऋतु – वसंत ऋतु

मास – फाल्गुन (गुजरात एवं महाराष्ट्र के अनुसार- माघ)

पक्ष – कृष्ण

तिथि – नवमी दोपहर 12:57 तक तत्पश्चात दशमी*

नक्षत्र – जेष्ठा दोपहर 12:07 तक तत्पश्चात मूल

योग – वज्र रात्रि 12:00 तक तत्पश्चात सिद्धि

राहुकाल – सुबह 11:25 से दोपहर 12:52 तक

सूर्योदय – 07:03

सूर्यास्त – 18:40

दिशाशूल – पश्चिम दिशा में

व्रत पर्व विवरण – समर्थ रामदासजी नवमी

विशेष – नवमी को लौकी खाना गोमांस के समान त्याज्य है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

लक्ष्मी माँ की प्रसन्नता पाने हेतु

समुद्र किनारे कभी जाएँ तो दिया जला कर दिखा दें …समुद्र की बेटी है लक्ष्मी … समुद्र से प्रगटी हैं …समुद्र मंथन के समय…. अगर दिया दिखा कर ” ॐ वं वरुणाय नमः ” जपें और थोड़ा गुरु मंत्र जपें मन में तो वरुण भगवान भी राजी होंगे और लक्ष्मी माँ भी प्रसन्न होंगी ।

तुलसी को पानी अर्पण से पुण्य

अपने घर में तुलसी का पौधा अवश्य लगाना चाहिए उसकी हवा से भी बहुत लाभ होते हैं और तुलसी को एक ग्लास पानी अर्पण करने से सवा मासा सुवर्ण दान का फल मिलता है ।
पूज्य बापूजी उज्जैन 7/1/2012

बलवर्धक

२ से ४ ग्राम शतावरी का चूर्ण गर्म दूध के साथ ३ माह तक सेवन करें इससे शरीर में बल आता है, साथ ही नेत्र ज्योति भी बढ़ती है ।*

Hair Crown

 

यह भी पढ़े: New Year 2022: नए साल से पहले रखें अपने पर्स में ये ख़ास चीज, नहीं होगी पैसों की कमी

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button