धर्म

Aaj Ka Panchang 30 July: इस शुभ मुहूर्त में करें भगवान शनिदेव का पूजन

Aaj Ka Panchang 30 July: राहुकाल और शुभमुहूर्त के साथ जानें कैसे लगेगा कार्यस्थल पर मन और उन्नतिकारक कुंजियाँ

दिनांक – 30 जुलाई 2022

दिन – शनिवार

विक्रम संवत् – 2079

शक संवत् – 1944

अयन – दक्षिणायन

ऋतु – वर्षा

मास – श्रावण

पक्ष – शुक्ल

तिथि – द्वितीया रात्रि 02:59 तक तत्पश्चात तृतीया

नक्षत्र – आश्लेषा दोपहर 12:13 तक तत्पश्चात मघा

योग – व्यतिपात शाम 07:02 तक तत्पश्चात वरीयान्

राहु काल – सुबह 09:28 से 11:07 तक

सूर्योदय – 06:09

सूर्यास्त – 07:23

दिशा शूल – पूर्व दिशा में

ब्राह्ममुहूर्त – प्रातः 04:43 से 05:26 तक

निशिता मुहूर्त – रात्रि 12:25 से 01:08 तक

व्रत पर्व विवरण – व्यतिपात योग

विशेष – द्वितीया को बृहती (छोटा बैंगन या कटेहरी) खाना निषिद्ध है । (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

व्यतिपात योग

29 जुलाई शाम 06:37 से 30 जुलाई शाम 07:02 तक

व्यतिपात योग में किया हुआ जप, तप, मौन, दान व ध्यान का फल १ लाख गुना होता है ।

सावधानी से स्वास्थ्य – भाग (२)

किसी को वायु और गैस की तकलीफ ज्यादा हो तो उसे आलु, चावल और चने की दाल आदि का परहेज रखना चाहिए । ये वायु करते हैं । वायु का रोगी दूध पिये तो एक-दो काली मिर्च डालकर पियें ।

सामान्य रूप से भी चावल, आलू आदि ज्यादा न खाएं नहीं तो आगे जाकर बुढ़ापे में जोड़ों का दर्द पकड़ लेगा । जो बीमारी होने वाली है, उससे बचने के लिए पहले से ही सावधान रहें ।

चाय-कॉफी, कोल्डड्रिंक्स आदि नशीली वस्तुओं से बचना चाहिए । आहार ऐसा हो कि आपका शरीर तंदुरुस्त रहे । विचार ऐसे करो कि मन पवित्र रहे ।

एक गिलास गुनगुने पानी में थोड़ा संतकृपा चूर्ण एवं शहद डाल दें । मुँह में अदरक का टुकड़ा चबाएं, ऊपर से यह शहदवाला पानी पी जायें और थोड़ा घूमें । इससे शरीर का वजन नियंत्रित हो जायेगा ।

धन-सम्पत्ति के लिए क्या करें ? – भाग (२)

पीपल के पेड़ में शनिवार और मंगलवार को दूध, पानी और गुड़ मिलाकर चढ़ायें और प्रार्थना करें कि ‘भगवान ! आपने गीता में कहा है ‘वृक्षों मे पीपल मैं हूँ।’ तो हमने आपके चरणों में अर्घ्य अर्पण किया है, इसे स्वीकार करें और मेरी नौकरी-धंधे की जो समस्या है वह दूर हो जाय ।’

श्रीहरि… श्रीहरि… श्रीहरि’ – ऐसा थोड़ी देर जप करें । तीन बार जपने से एक मंत्र हुआ । उत्तराभिमुख होकर इस मंत्र की 1-2 माला शांतिपूर्वक करें और चलते-फिरते भी इसका जप करें तो विशेष लाभ होगा और रोजी-रोटी के साथ ही शांति, भक्ति और आनंद भी बढ़ेगा । बस, अपने-आप समस्या हल हो जायेगी ।

लक्ष्मी चाहने वाला मनुष्य भोजन और दूध को बिना ढके न रखे ।
Insta loan services

यह भी पढ़े: पुरानी गाड़ी वालों की बले-बले, दोबारा रजिस्ट्रेशन करा चला सकेंगे पुरानी गाड़ी

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button