धर्म

Aaj Ka Panchang Hindu 19 March: जानें आज का शुभ मुहूर्त और ग्रह-नक्षत्र की चाल

Aaj Ka Panchang Hindu 19 March: राहुकाल और शुभमुहूर्त के साथ जानें कैसे लगेगा कार्यस्थल पर मन और उन्नतिकारक कुंजियाँ

दिनांक- 19 मार्च 2022

दिन – शनिवार

विक्रम संवत – 2078

शक संवत – 1943

अयन – उत्तरायण

ऋतु – वसंत

मास – चैत्र

पक्ष – कृष्ण

तिथि – प्रतिपदा 11:37 ए. एम. तक ततपश्चात द्वितीया

नक्षत्र – हस्त 11:38 ए. एम तक तपश्चात चित्रा

योग – वृद्धि 9:01 पी. एम तक तत्पश्चात ध्रुव

राहुकाल –09:46 ए.एम से 11:17 ए.एम. तक

सूर्योदय – 06:45 ए. एम.

सूर्यास्त – 06:50 पी.एम

चन्द्रोदय – 07:58 पी.एम.

दिशाशूल – पूर्व

विजय मुहूर्त – 2:48 पी.एम. से 3:37 पी.एम

अमृत काल – 5:48 पी.एम. से 07:21 पी.एम

गोधूलि मुहूर्त – 6:38 पी.एम से 7:02 पी.एम

सायह्न सन्ध्या – 6:50 पी.एम से 8:02 पी.एम

ब्रह्म मुहूर्त- 05:10 ए.एम. से 05:57 ए. एम

निशिता मुहूर्त – 12.23 ए.एम से 01:11 ए.एम 20 मार्च

दिन के चौघड़िया

6:45 से 8:16 काल – हानि
8:16 से 9:46 शुभ – उत्तम
9:46 से 11:17 रोग – अमंगल
11:17 से 12:48 उद्वेग-अशुभ
12:48 से 2:18 चर – सामान्य
2:18 से 3:49 लाभ – उन्नति
3:49 से 5:20 अमृत – सर्वोत्तम
5:20 से 6:50 काल – हानि

रात के चौघड़िया

6:50 से 8:19 लाभ – उन्नति
8:19 से 9:49 उद्वेग-अशुभ
9:49 से 11:18 शुभ – उत्तम
11:18 से 12:47 अमृत- सर्वोत्तम
12:47 से 2:16 चर – सामान्य
2:16 से 3:46 रोग- अमंगल
3:46 से 5:15 काल – हानि
5:15 से 6:44 लाभ – उन्नति
व्रत पर्व विवरण – संत तुकाराम जी द्वितीया
विशेष – प्रतिपदा को कूष्माण्ड(कुम्हड़ा, पेठा) न खाये, क्योंकि यह धन का नाश करने वाला है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

चैत्र में गुड़ खाना मना बताया गया है। चैत्र माह में नीम के पत्ते खाने से रक्त शुद्ध हो जाता है मलेरिया नहीं होता है।

ब्रह्म पुराण’ के 118 वें अध्याय में शनिदेव कहते हैं- ‘मेरे दिन अर्थात् शनिवार को जो मनुष्य नियमित रूप से पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेंगे, उनके सब कार्य सिद्ध होंगे तथा मुझसे उनको कोई पीड़ा नहीं होगी। जो शनिवार को प्रातःकाल उठकर पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेंगे, उन्हें ग्रहजन्य पीड़ा नहीं होगी।’ (ब्रह्म पुराण’)

शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष का दोनों हाथों से स्पर्श करते हुए ‘ॐ नमः शिवाय।’ का 108 बार जप करने से दुःख, कठिनाई एवं ग्रहदोषों का प्रभाव शांत हो जाता है। (ब्रह्म पुराण’) हर शनिवार को पीपल की जड़ में जल चढ़ाने और दीपक जलाने से अनेक प्रकार के कष्टों का निवारण होता है।(पद्म पुराण)

Hair Crown Salon

ये भी पढ़े: दिल्ली में खुल रहा है भारत का सबसे सस्ता EV Charging Station

Jagjeet Singh

जगजीत सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे हैं। इन्होंने टेक्निकल, विश्व और एजुकेशन से सम्बंधित लेखो को अपने लेखन में प्रकाशित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button