धर्म

Aaj Ka Panchang- 30 जुलाई का हिंदू पंचांग, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

आज का पंचांग: जानें आज का राहुकाल, सूर्योदय और सूर्यास्त का समय और साथ ही जानें निरोगी व संपन्न होने के उपाए भी

Aaj Ka Panchang-

आज का पंचांग:  हिन्दू पंचांग को वैदिक पंचांग भी कहा जाता है। पंचांग की सहायता से समय और काल के बारे में सटीक अनुमान लगाया जाता है। मुख्य रूप से पंचांग 5 अंगो को मिलकर बनता है। पंचांग के 5 अंग: तिथि, नक्षत्र, वार योग और करण है। दैनिक पंचांग में हम आपको सूर्योदय और सूर्यास्त का समय, करण, सूर्ये और चंद्र ग्रह की स्थिति, नक्षत्र, तिथि, शुभ मुहूर्त, राहुकाल, हिंदू मास और पक्ष इत्यादि की जानकारी देते हैं। आइए जानते हैं आज के हिंदू पंचांग के बारे में:-

दिनांक 30 जुलाई 2021

दिन – शुक्रवार

विक्रम संवत2078

शक संवत1943

अयन – दक्षिणायन

ऋतु – वर्षा 

मास – श्रावण 

पक्ष – कृष्ण 

तिथि – सप्तमी 31 जुलाई प्रातः 05:40 तक तत्पश्चात अष्टमी

नक्षत्र – रेवती दोपहर 02:03 तक तत्पश्चात अश्विनी

योग – धृति रात्रि 08:20 तक तत्पश्चात शूल

राहुकाल – सुबह 11:07 से दोपहर 12:45 तक

सूर्योदय06:12 

सूर्यास्त19:17 

दिशाशूल – पश्चिम दिशा में

व्रत पर्व विवरण – 

विशेष – सप्तमी को ताड़ का फल खाने से रोग बढ़ता है था शरीर का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

चतुर्मास के दिनों में ताँबे व काँसे के पात्रों का उपयोग न करके अन्य धातुओं के पात्रों का उपयोग करना चाहिए।(स्कन्द पुराण)

चतुर्मास में पलाश के पत्तों की पत्तल पर भोजन करना पापनाशक है।

~ हिन्दू पंचांग ~

 

काम काज मैं कैसे हो सफल

जिसका कामकाज सफल नही होता है , पत्नी गो-शाला मे जाकर गाय के खुर की मिट्टी लाये और पति को तिलक कर के पति काम पर जाये तो काम जरुर सफल होता है, गाय की ओरा बड़ी हितकारी होती है ।

 

Tax Partner

~ हिन्दू पंचांग ~

 

निरोगी व श्री सम्पन्न होने के लिये

 “ॐ हुं विष्णवे नमः” – निरोगी व श्री सम्पन्न होने के लिये इस मन्त्र की एक माला रोज जप करें, तो आरोग्यता और सम्पदा आती हैं ।

 

~ हिन्दू पंचांग ~

सूर्यनारायण का ध्यान

भ्रूमध्य में सूर्यनारायण का ध्यान करने से, ॐकार का ध्यान करने से बुद्धि विकसित होती है और नाभि से सूर्य का ध्यान अथवा ॐकार का ध्यान करने से निरोगता प्राप्त होती है|

सूर्यनारायण के ध्यान की विधि 

लंबा श्वास खींच कर सवा मिनट से डेढ़ मिनट रोके फिर धीरे-धीरे छोड़े फिर बाहर श्वास रोक के एक मिनट छोड़ दे फिर अंदर रोक के और छोड़ दे | बस ! एक बार अंदर रोके एक बार बाहर रोके प्राणायाम योग करना | शरीर में जो थकान, बीमारी के कण होने वाले है वो निकलते है|

ये भी पढ़े:-  आज का पंचांग: 29 जुलाई गुरूवार का पंचांग, जानिए शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

Rahil Sayed

राहिल सय्यद तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे हैं। इन्होंने दिल्ली से सम्बंधित बहुत सी महत्वपूर्ण घटनाओं और समाचारों को अपने लेखन में प्रकाशित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button