धर्म

आखिर क्यों लगया जाता है भगवान को भोग…जाने पूरी जानकारी

हिंदू धर्म के अनुसार पूजा के समय सिर्फ मंत्र उच्चारण और आरती करने से पूजा समाप्त नहीं होती है पूजा में भोग एक बहुत ही अहम हिस्सा है.

हिंदू धर्म के अनुसार पूजा के समय सिर्फ मंत्र उच्चारण और आरती करने से पूजा समाप्त नहीं होती है पूजा में भोग एक बहुत ही अहम हिस्सा है. आप चाहे घर में पूजा कर रहे हो या बाहर बिना प्रसाद की पूजा कभी भी पूरी नहीं होती पूजा के समय भोग और प्रसाद का काफी महत्व होता है. हमारे हिंदू धर्म में किसी भी चीज के पीछे कोई ना कोई कारण जरूर होता है तो वही जानते हैं वह क्यों लगाया जाता है कहां जाता है कि पूजा पाठ या व्रत के समय जब भोग या प्रसाद चढ़ाते हैं तो बहुत ही पवित्र मन से चढ़ाना चाहिए यह भी कहा जाता है की पूजा के समय कोई और पवित्र चीज का ग्रहण न करें इसीलिए भोग लगाए जाते हैं.

भोग बनाते समय इंसान को अपना मन  शांत रखता होता है और प्रसन्न होकर भोग प्रसाद को बनता है. इसका यह भी एक कारण है कि खुश और शांत रहने से वो डिप्रेशन से दूर हो जाता है. वास्तु शास्त्र वास्तु शास्त्र के अनुसार हम जिस मन से भोजन को बनाते हैं और वही भोजन हम ग्रहण करते हैं तो हमारा मन भी वैसा ही हो जाता है.

यदि हम शुद्ध मन से भोजन को बनाते हैं और उसको भगवान को भोग लगाने के बाद खुद जब ग्रहण करते हैं  तो हमारा मन भी पवित्र हो जाता है ये भी कहा जाता है कि हमारे भोजन करने से पहले यदि हम भगवान को भोग लगाते हैं तो हमारा अन्न दोष भी दूर हो जाता. भोजन करने से पहले सदैव भगवान को भोजन अर्पित करना चाहिए तभी हमें वह भोजन करना चाहिए ऐसा करने से हमारे घर में शांति बनी रहती है हमारा मन सुखी रहता है.

Accherishtey

यह भी पढ़े : तिलक लगाने से होंगे तनाव से दूर; एकाग्र होता है मन

Related Articles

Back to top button