धर्म

Diwali 2021: जानिए नरक चतुर्दशी का शुभ मुहूर्त और महत्व

छोटी दिवाली जिसे रूप चौदस कहा जाता है और नरक चतुर्दशी भी कहा जाता है। कैलेंडर के अनुसार, कार्तिक मास कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाते हैं।

छोटी दिवाली जिसे रूप चौदस कहा जाता है और नरक चतुर्दशी भी कहा जाता है। कैलेंडर के अनुसार, कार्तिक मास कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाते हैं।

आज का और दिवाली का शुभ मुहूर्त

दुनियाभर के हिन्दु आज के दिन खास पूजा-पाठ करते हैं, जिसके लिए शुभ मुहूर्त देखा जाता है इस साल छोटी दिवाली की पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 09:02 बजे से अगले दिन सुबह 06:03 बजे तक है। आज के दिन महिलाएं अपना रूप निखारने और संवारने का काम करती है।

कहा जाता है कि छोटी दिवाली के दिन यमराज, श्री कृष्ण, काली माता, भगवान शिव, हनुमान जी और विष्णु जी के वामन रूप की विशेष पूजा की जाती है। इस दिन यमराज की पूजा करने से अकाल मृत्यू का भय खत्म होता है।

हिन्दू मान्यताओं के अनुसार, नरकासुर ने वैदिक देवी अतिथि के समाज को हड़प लिया था और महिलाओं को प्रताड़ित भी किया था। इस दिन अत्याचार को रोकने के साथ उनके रूप और स्वास्थ्य को लेकर सजगता का संदेश दिया जाता है।

आपको बता दें कि कुछ जगह तो नरकासुर के पुतले का दहन भि किया जाता है। ये देश के सभी इलाकों में मनाया जाता है, सिर्फ नाम अलग अलग है।

radhey krishna auto

यह भी पढ़े: Delhi में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, सड़क किनारे फेका शव

Jagjeet Singh

जगजीत सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे हैं। इन्होंने टेक्निकल, विश्व और एजुकेशन से सम्बंधित लेखो को अपने लेखन में प्रकाशित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button