धर्म

इन 2 दिनों में न करें कोई शुभ काम, वरना डूब जाएगी संपत्ति

भारतीय परंपरा में धार्मिक आधार पर कई महीने और तिथियाँ विशेष मानी जाती हैं, जिनमें से एक है मार्गशीर्ष मास। इस मास में कुछ दिन ऐसे

भारतीय परंपरा में धार्मिक आधार पर कई महीने और तिथियाँ विशेष मानी जाती हैं, जिनमें से एक है मार्गशीर्ष मास। इस मास में कुछ दिन ऐसे होते हैं जिनमें शुभ कार्यों का करना विशेष रूप से अशुभ माना जाता है। इस समय को ध्यान में रखते हुए, यह सावधानी बरती जानी चाहिए क्योंकि कहा जाता है कि इन दिनों में किए गए कार्यों से संपत्ति में हानि हो सकती है।

1. पूर्वफाल्गुनी (पूर्वा फाल्गुनी):
इस तिथि को मार्गशीर्ष मास के अंत में आते हुए माना जाता है। इस दिन किए गए कार्यों से धन और संपत्ति में हानि हो सकती है, इसलिए शुभ कार्यों का न करें।

2. उत्तरफाल्गुनी (उत्तरा फाल्गुनी):
इस दिन को मार्गशीर्ष मास के अंत में आते हुए माना जाता है। इस दिन किए गए कार्यों से संपत्ति में बढ़ोतरी हो सकती है, लेकिन अनिवार्यता से कोई नया कार्य शुरू न करें।

यहां कुछ सावधानियाँ हैं जो इन दिनों में ध्यान में रखी जा सकती हैं:

1. शुभ कार्यों का टूटना:
इन दिनों में किए गए शुभ कार्यों का टूटना अधिक संभावना है, इसलिए सावधानी से व्यवहार करें।

2. विवाद में न पड़ें:
इस समय में विवादों से बचें और सामंजस्य बनाए रखें।

3. नए प्रोजेक्ट्स की शुरुआत न करें:
इन दिनों में किसी नए प्रोजेक्ट की शुरुआत करना टालें और पहले चल रहे कार्यों पर ध्यान केंद्रित रहें।

4. वितरण और दान में सावधानी:
धर्मिक वितरण और दान में सावधानी बरतें, और सुनिश्चित करें कि वे उचित रूप से किए जा रहे हैं।

मार्गशीर्ष मास के इन दिनों में सावधानी बरतने से रिश्तों और धन की रक्षा हो सकती है, और इससे जीवन में समृद्धि बनी रह सकती है।

Accherishtey

ये भी पढ़े: मेट्रो यात्रियों के लिए खुशखबरी! अब लाइन चेंज करने के लिए नहीं चलना पड़ेगा अधिक

Related Articles

Back to top button