धर्म

खरमास में तुलसी के साथ भूल कर भी न करे ये चीज़े…रूठ जाएंगी मां लक्ष्मी

कहां जाता है कि जिस घर में तुलसी का पौधा रहता है वह घर में माता लक्ष्मी का वास होता है. तुलसी को भगवान के रूप में पूजा जाता है भगवान विष्णु की पूजा तुलसी के पौधे के बिना अधूरी रहती है.

कहां जाता है कि जिस घर में तुलसी का पौधा रहता है वह घर में माता लक्ष्मी का वास होता है. तुलसी को भगवान के रूप में पूजा जाता है भगवान विष्णु की पूजा तुलसी के पौधे के बिना अधूरी रहती है. तुलसी से जुड़ी काफी कथाएं – कहानी है एवं आरती – भजन भी है. मान्यता है की जिस घर में तुलसी रहता है वह घर की तीर्थ से कम नहीं होता है.

साथ ही आपको बता दे की 16 दिसंबर से खरमास शुरू होने जा रहा है खरमास में कोई भी शुभ कार्य नहीं किए जाते जो भी कार्य होते है उनको खरमास शुरू के पहले ख़त्म कर दिए जाते है.खरमास शुरू और ख़त्म होने के बिच किसी भी तरह का सुभ कम नहीं होता.यहाँ तक तक की शादी  विवाह भी खरमास शुरू होने से पहले ख़त्म हो जाता है.

अब परेशानी ये हैं की जहा लोग तुलसी को माता लक्ष्मी की तरह मानते  है. तुलसी के बिना भगवान विष्णु की पूजा सफल नहीं होती है इतनी कथाए है. वही तुलसी का खरमास में क्या नियम है आइये जानते है.तुलसी हमारे लिए बहुत शुभ माना जाता है साथ ही खरमास हमारे लिए अशुभ माना जाता है. इसी विषय में हम आपको बताएँगे की खरमास में तुसली को कैसे रखना चाहिए और कैसे नहीं.

जानिए खरमास में क्या करे तुलसी रखने वाले

    1. खरमास को नकारात्मक रूप से देखा जाता है इसलिए जल पिने समय तुलसी को थोड़ा रखना चहिये इससे काफी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है.
    2. खरमास में पर भूल कर भी किसी चन्दन या सिंदूर को न चढायें इससे काफी बुरा असर हमारे जीवन पर पड़ता है.
    3. खरमास में पड़ने वाले कोई भी एकादशी में तुलसी का पौधा न तोड़े इससे लक्ष्मी नाराज़ हो जाती है.
    4. पुरे खरमास ज्यादा से ज्यादा तुलसी से दूर रहना चाहिए.
    5. मंगलवार और रविवार को तुलसी के पौधे को नहीं तोड़ना चहिये.
    6. तुलसी में मंगलवार और रविवार के दिनन जल भी नहीं चढ़ाना चाहिए.

Accherishtey

यह भी पढ़े :  तिलक लगाने से होंगे तनाव से दूर; एकाग्र होता है मन>
 

Related Articles

Back to top button