धर्म

अगर आपके घर भी होती है बेवजह कलह, तो करे ये काम

एक बड़े परिवार में हर तरह के लोग होते हैं। ज़ाहिर सी बात हैं कि ऐसे में कलह तो होगा ही। लेकिन इन सबके बीच कई ऐसी वजाह भी होती हैं जो कलेश का कारण बन जाती हैं।

एक बड़े परिवार में हर तरह के लोग होते हैं। ज़ाहिर सी बात है कि ऐसे में कलह तो होगा ही। लेकिन इन सबके बीच कई ऐसी वजह भी होती हैं जो कलेश का कारण बन जाती हैं।

कई परिवारों में कलेश हो जाता है लेकिन एक मामूली कलह बड़े विवाद में बदल जाता हैं। इस बिना किसी बात के कलेश के कई कारण हो सकते हैं। 

गरूण पुराण में कहा गया है कि ऐसी स्थितियों का कारण और कुछ नहीं बल्कि हमारी बुरी आदतें होती हैं। दरअसल, आपकी बुरी आदतें आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा पैदा करती हैं, जिसके कारण परिवार के लोगों पर इसका बुरा असर पड़ता है।

इसके अलावा और भी वजह हो सकती हैं, जैसे:

रात में झूठे बरतन सिंक में छोड़ देना

gande bartanपुराने समय में लोग अपने रसोई घर को बिलकुल साफ़ रख कर सोते थे। लेकिन आज की भागादोड़ी वाली जिंदगी में किसी को सोते समय बरतन साफ करने की फुरसत नही हैं। सबके यहां मेड सुबह या दोपहर को काम करके चली जाती हैं। ऐसे में झूठे बरतन रात को सिंक में रहे जाते हैं। गरुड़ पुराण में कहा गया है कि रात के जूठे बर्तन छोड़ने की आदत आपके घर में दरिद्रता की वजह बन सकती है। इसके कारण घर में क्लेश और झगड़े की स्थिति पैदा होती है।   

घर में साफ़ सफ़ाई ना रखना 

drty room
घर को साफ़ रखना बेहद ज़रूरी हैं। वरना बीमारियां पनपने में देर नहीं लगती हैं। गरुड़ पुराण के अनुसार गंदे और अव्यवस्थित घर में मां लक्ष्मी का वास कभी नहीं होता। फिजूल खर्च भी बढ़ जाते हैं। परिवार में मतभेद बढ़ने लगते हैं, और आपसी कलह शुरू हो जाती है।

कबाड़ कूढ़ा इकट्ठा करना 

kabad
घर में कम जगह होने के कारण लोग कबाड़ इकट्ठा कर छत पर जमा कर लेते हैं। इसी पर गरुड़ पुराण में कहा गया है कि कबाड़ को घर के किसी भी हिस्से में नहीं रखना चाहिए। कबाड़ इकट्ठा करने से घर में नकारात्मकता बढ़ती है और आर्थिक तंगी व क्लेश की स्थितियां पैदा हो जाती हैं। 

 

Tez Tarrar App

ये भी पढ़े: Aaj Ka Panchang: जानिए 22 October शुक्रवार का पंचांग, शुभ मुहूर्त और राहुकाल

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button