धर्म

27 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा, जानें सभी महत्व और धार्मिक मान्यताएं

कार्तिक पूर्णिमा, हिन्दू पंचांग में कार्तिक मास की पूर्णिमा को कहा जाता है, जो इस बार 27 नवंबर 2023 को आ रही है। यह एक महत्वपूर्ण हिन्दू

कार्तिक पूर्णिमा, हिन्दू पंचांग में कार्तिक मास की पूर्णिमा को कहा जाता है, जो इस बार 27 नवंबर 2023 को आ रही है। यह एक महत्वपूर्ण हिन्दू त्योहार है जिसे भारतीय समाज में गौरवपूर्ण आध्यात्मिकता के साथ मनाया जाता है। इस दिन के महत्वपूर्ण सांस्कृतिक और धार्मिक पहलुओं को जानने के लिए यहां हैं कुछ महत्वपूर्ण बातें:

1. कार्तिक पूर्णिमा का महत्व:
कार्तिक पूर्णिमा हिन्दू पंचांग में कार्तिक मास के पूर्णिमा तिथि को संदर्भित करता है। इसे देव दीपावली के रूप में भी जाना जाता है।

2. गोदावरी स्नान:
कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान के अलावा गोदावरी में स्नान करना भी महत्वपूर्ण है। यह मान्यता है कि इस दिन गोदावरी नदी का जल अत्यंत पवित्र होता है और इसमें स्नान करने से पापों का नाश होता है।

3. देव दीपावली:
कार्तिक पूर्णिमा को देव दीपावली के रूप में मनाने का अद्वितीय महत्व है। इस दिन देवताओं की पूजा-अर्चना की जाती है और उन्हें दीपों के साथ प्रसन्न करने का अवसर मिलता है।

4. व्रत और पूजा:
भक्त इस दिन विशेष रूप से व्रत रखते हैं और अपनी ईश्वरीय पूजा करते हैं। कार्तिक पूर्णिमा को सत्यनारायण व्रत भी महत्वपूर्ण रूप से मनाया जाता है।

5. दीपदान और आरती:
घरों में दीपों की रौंगत के साथ आरतियाँ बजती हैं और लोग अपने घरों को पुनः प्रकाशमय बनाने का संकल्प लेते हैं।

6. तुलसी पूजा:
तुलसी की पूजा भी कार्तिक पूर्णिमा के दिन की जाती है। तुलसी के पौधे को सुगंधित फूलों और दीपों से सजाकर पूजा जाता है।

7. धर्मिक महत्व:
कार्तिक पूर्णिमा को मनाकर लोग अपने जीवन में धार्मिकता, सादगी, और आदर्शों की ओर बढ़ने का संकल्प लेते हैं।

इस पवित्र दिन को सही रूप से मनाने से व्यक्ति अपने आत्मिक और धार्मिक उन्नति की ओर बढ़ता है। कार्तिक पूर्णिमा की शुभकामनाएं!Accherishtey
यह भी पढ़ें: दिल्ली के इंद्रप्रस्थ मेट्रो स्टेशन के पास दो गाड़ियों में टक्कर, 2 की मौत, 2 घायल

Related Articles

Back to top button