धर्म

Karwa Chauth 2022 : कब है करवा चौथ? जाने शुभ मुहूर्त व पूजा विधि

देशभर में करवाचौथ का त्यौहार सभी शादीशुदा महिलाओं द्वारा मनाया जाता है, इस दिन वह खुब तैयार होती है और सारा दिन बिना कुछ खाएं और बिना

देशभर में करवाचौथ का त्यौहार सभी शादीशुदा महिलाओं द्वारा मनाया जाता है, इस दिन वह खुब तैयार होती है और सारा दिन बिना कुछ खाएं और बिना पानी पिए रहती है। करवा चौथ का व्रत कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन मनाया जाता है। इस दिन शादीशुदा महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए करवाचौथ का व्रत रखती हैं। इस दिन कन्याएं भी अपने अच्छे वर के लिए व्रत रखती हैं। यह व्रत घर की सुख-समृद्धि के लिए किया जाता है. ऐसा माना जाता है कि यदि महिलाएं इस दिन कोई भी इच्छा मांगें, वो वह जरूर पूरी होती है।

करवा चौथ का महत्व:

करवा चौथ का व्रत विवाहित महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए करती है। यह उत्तर भारत में ज्यादा मनाया जाता है। करवाचौथ के दिन वह चांद को देखने के बाद ही अपना व्रत खोलती हैं। अगर महिलाओं ने चांद देखने से पहले अपने व्रत को तोड़ दिया, तो यह व्रत खंडित हो जाता है। यह व्रत सुबह सूर्य आने से पहले ही 4 बजे शुरू हो जाता है और इसमें भगवान गणेश, भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा की होती है।

करवा चौथ तिथि:

इस साल करवा चौथ की तिथि 13 अक्टूबर को रात 01 बजकर 59 मिनट से शुरू होकर अगले दिन 14 अक्टूबर को सुबह 03 बजकर 08 मिनट पर ख़तम होगी। उदयातिथि के मुताबिक, करवा चौथ का व्रत 13 अक्टूबर को ही रखा जाएगा।

करवा चौथ का शुभ मुहूर्त:

करवा चौथ पर अमृत काल का मुहरत शाम 04 बजकर 08 मिनट से शाम 05 बजकर 50 मिनट तक रहेगा। इसके बाद अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 21 मिनट से दोपहर 12 बजकर 07 मिनट तक रहेगा।

करवा चौथ का चलन इन राज्यों में:

भारत में हर साल मनाया जाने वाला यह करवा चौथ का त्योहार दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा जैसे राज्यों में बेहद ज्यादा मनाया जाता है।
Insta loan services

यह भी पढ़े: दिल्ली में खत्म हुई शराब पर मिलने वाली बंपर छूट, जानें नई नीतियां

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button