धर्म

जानिए नवरात्र के छठे दिन किस माता की होती है पूजा

लोगों का कहना है कि गोपियों ने श्रीकृष्ण जी को पाने के लिए ब्रज के कालिंदी नदी के तट पर माता कात्यानी की पूजा करी थी।

 

आप सभी को बता दें कि नवरात्रि के छठे दिन माँ कात्यायनी देवी की पूजा की जाती है। इस दिन माता के भक्त माता की काफी श्रद्धा के साथ पूजा करते हैं। ऋषि कात्यायन की पुत्री होने की वजह से माता का नाम माँ कात्यायनी देवी पड़ा। लोगों का कहना है कि गोपियों ने श्रीकृष्ण जी को पाने के लिए ब्रज के कालिंदी नदी के तट पर माता कात्यानी की पूजा करी थी।

माँ कात्यायनी देवी का वर्णन इस प्रकार किया जाता है। कहा जाता है कि उनकी चार भुजाएं इनके बाएं हाथ में कमल का फूल और एक हाथ में तलवार व दाहिने हाथ में स्वस्तिक और आशीर्वाद की मुद्रा लिए हुए माता विराजमान रहती है। नवरात्रि के छठे दिन माता कहते यानी की पूजा करी जाती है। पूजा के वक्त माता के भक्त कुछ खास मंत्रों का उच्चारण भी करते हैं।

देवी कात्यायन्यै नम: ।

या देवी सर्वभूतेषु मां कात्यायनी रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

चंद्रहासोज्जवलकरा, शार्दूलवरवाहन।
कात्यायनी शुभं दद्यात्, देवी दानवघातिनी।।

Related Articles

Back to top button