धर्म

Navratri Day 7: नवरात्रि के सातवें दिन ऐसे करें मां कालरात्रि की पूजा, जाने पूजा विधि और मंत्र

Navratri Day 7: देश भर में चल रहे नवरात्र का आज छठवां द‍िन और सप्‍तमी त‍िथ‍ि है. आज के दिन माँ के 9 स्‍वरूप में से माँ कालरात्रि की उपासना की जाती है.

देश भर में चल रहे नवरात्र का आज छठवां द‍िन और सप्‍तमी त‍िथ‍ि है. आज के दिन माँ के 9 स्‍वरूप में से माँ कालरात्रि की उपासना की जाती है. माना जाता है क‍ि देवी भगवती के इस रूप की आराधना करने से सारी समस्याएं दूर जो जाती है और माता रानी की कृपा से अभय का वरदान मिलता है. इसलिए आईये जानते है केसा है माँ का यह स्वरूप, पूजा और पूजा मंत्र.

देवी कालरात्रि स्‍वरूप:

नवरात्रि की सप्‍तमी त‍िथ‍ि माँ कालरात्रि को समर्पित है. माता का शरीर रात्रि की तरह है. इनके श्‍वास से आग निकलती है. माँ के 4 हाथ है जिसमे एक हाथ में कतार और एक हाथ में लोहे काँटा है. माँ के तीन नेत्र है और माँ का वाहन गधा है.

देवी कालरात्रि की पूजा व‍िध‍ि:

नवरात्र के सातवें दिन सबसे पहले सनान करने के बाद स्वच्छ वस्त्र पहने. फिर मां कालरात्रि की
पूरी विधि और विधान से पूजा करें. देवी को अक्षत्, रातरानी पुष्प और गुड़ का नैवेद्य आदि विधिपूर्वक अर्पित करें. अब दुर्गा आरती करें. इसके बाद ब्राह्मणों को दान दें, इससे अचानक होने वाले संकटों से आपकी रक्षा होगी. मां कालरात्रि की आरती और पूजा के समय अपने सिर को हमेशा ठक कर रखें. पूजा के समय सिर पर साफ रूमाल रख लें. इसके साथ ही, सप्तमी में विधान के साथ देवी की पूजा की जाती है.

मां कालरात्रि के मंत्र:

दंष्ट्राकरालवदने शिरोमालाविभूषणे। चामुण्डे मुण्डमथने नारायणि नमोऽस्तु ते।।
या देवी सर्वभूतेषु दयारूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

Aadhya technology

यह भी पढ़े: Aaj Ka Rashifal: जानें किन राशियों के लिए शुभ हैं 12 October का दिन

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button