धर्म

Paush Amavasya 2022: पौष अमावस्या को जरूर करें ये उपाय, चमक उठेगी किस्मत

साल 2022 की आखिरी अमावस्या 23/12/22, शुक्रवार को पड़ रही है. ऐसे में इस दिन पवित्र नदी में स्नान और तर्पण के साथ-साथ भक्तों को मां

साल 2022 की आखिरी अमावस्या 23/12/22, शुक्रवार को पड़ रही है. ऐसे में इस दिन पवित्र नदी में स्नान और तर्पण के साथ-साथ भक्तों को मां लक्ष्मी का भी विशेष आशीर्वाद प्राप्त होगा. ऐसा इसलिए क्योंकि शुक्रवार का दिन माता लक्ष्मी की विशेष पूजा के लिए समर्पित है. मान्यता है कि इनकी आराधना करने से धन से जुड़ी समस्याएं दूर हो जाती हैं और व्यक्ति के जीवन में खुशहाली आती है.

पंचांग में यह भी बताया गया है कि इस दिन वृद्धि योग का भी निर्माण हो रहा है. माना जाता है कि इस योग में किए गए कार्यों में हमेशा वृद्धि होती है. साथ ही जीवन में आ रही रुकावटें दूर हो जाती हैं. इस दिन वृद्धि योग का निर्माण 23 दिसंबर 2022, सुबह 09 बजकर 42 मिनट से शाम 7बजकर 05 मिनट तक है , इस दौरान कांसे की कटोरी में देसी घी भरकर उसमे एक शुद्ध सोने की छोटी पत्ती डाल कर मंदिर में मां लक्ष्मी के आगे रख दे और धन वृद्धि की प्रार्थना करें। किसी भी प्रकार की पूजा पाठ संबंधी कार्यों के लिए एवं कुंडली की जानकारी के लिए संपर्क करें पं नीरज शर्मा 9868427068.

अमावस्या तिथि को पितृ दोष से मुक्ति के लिए बेहद खास माना गया है. ऐसे में अगर किसी जातक की कुंडली में पितृ दोष है तो उन्हें इस दिन निश्चित रूप से पवित्र स्नान करने के पितरों के निमित्त मंदिर में विशेष दान करें, मान्यता है कि अमावस्या के दिन ऐसा करने से पूर्वजों का आशीर्वाद भी मिलता है और घर में खुशहाली बरकरार रहती है. किसी भी प्रकार की पूजा पाठ संबंधी कार्यों के लिए एवं कुंडली की जानकारी के लिए संपर्क करें पं नीरज शर्मा 9868427068.

Accherishtey
यह भी पढ़ें:  पुरानी गाड़ी वालों की बल्ले-बल्ले, इस तरह फिर चला सकेंगे अपना वाहन

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button